समग्र शिक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से तैयार की गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति : शाह

shah
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार शाम को कहा कि छात्रों को समग्र और बहु-विषयक शिक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी)-2020 का मसौदा तैयार किया गया है। उन्होंने छात्रों से कामयाब बनने के लिए कठिन परिश्रम करने को कहा और साथ ही उन्हें समाज की भलाई के लिए काम करने को प्रेरित भी किया।

चंडीगढ़, 31 जुलाई।  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार शाम को कहा कि छात्रों को समग्र और बहु-विषयक शिक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी)-2020 का मसौदा तैयार किया गया है। उन्होंने छात्रों से कामयाब बनने के लिए कठिन परिश्रम करने को कहा और साथ ही उन्हें समाज की भलाई के लिए काम करने को प्रेरित भी किया। चंडीगढ़ के एक दिवसीय दौरे पर आए शाह ने शनिवार शाम मौली जागरण में सरकारी मॉडल हाई स्कूल की नवनिर्मित इमारत का उद्घाटन किया।

उन्होंने सरकारी मॉडल हाई स्कूल, सेक्टर 12 और सरकारी मॉडल हाई स्कूल, किशनगढ़ की इमारतों का वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन किया। शाह ने एक सभा में कहा, “एनईपी-2020 का मसौदा बहुत बारीकी से तैयार किया गया है। यह व्यक्तिगत विकास और छात्रों की क्षमताओं को विकसित करने पर केंद्रित है, ताकि वे अपने जीवन में उत्कृष्ट काम कर सकें।” उन्होंने कहा कि कामयाब बनने के लिए कठिन परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है।

कार्यक्रम में कई शिक्षकों की मौजूदगी का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि पहले शिक्षकों को गुरु कहा जाता था और उनसे बच्चों के भविष्य को आकार देने में यही भूमिका निभाने का अनुरोध किया। गृह मंत्री ने कहा, ‘‘ज्ञान हमारे जीवन को सुगंधित कर देता है।’’ उन्होंने छात्रों से कड़ी मेहनत करने का अनुरोध किया, ताकि जब वे बड़े हों तो राष्ट्र की प्रगति में योगदान दे सकें। शाह ने छात्रों से केंद्र सरकार के ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम के तहत 13 से 15 अगस्त के बीच अपने घरों पर तिरंगा फहराने की अपील की।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़