बंगाल में दो रैलियों को संबोधित करेंगे अमित शाह, यह होंगे कार्यक्रम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2021   17:12
बंगाल में दो रैलियों को संबोधित करेंगे अमित शाह, यह होंगे कार्यक्रम

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस सप्ताहांत बंगाल में दो रेलियों को संबोधित करेंगे। भाजपा सूत्रों के मुताबिक शाह शुक्रवार की रात कोलकाता पहुंचेंगे और शनिवार से अपने अभियान की शुरुआत करेंगे।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार और रविवार को पश्चिम बंगाल में दो रैलियों को संबोधित करेंगे। आगामी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर वह और भी कई कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक शाह शुक्रवार की रात कोलकाता पहुंचेंगे और शनिवार से अपने अभियान की शुरुआत करेंगे। सबसे पहले वह शनिवार को मायापुर में इस्कॉन मंदिर जाएंगे और वहां पूजा अर्चना करेंगे। इसके बाद वह ठाकुरनगर क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी मंत्रिमंडल को लगा झटका, राजीव बनर्जी ने विधायक पद से दिया इस्तीफा

शाह शनिवार की शाम पार्टी के सोशल मीडिया टीम के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। पूर्व भाजपा अध्यक्ष रविवार को हावड़ा के डुमुरजाला में जनसभा को संबोधित करेंगे। इस दिन वह अरविंदों भवन और बेलूर मठ का भी दौरा करेंगे। सूत्रों का कहना है कि शाह बेलूर में रविवार को एक जूट मिल के कर्मचारी के घर दोपहर का भोजन करेंगे। ज्ञात हो कि पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राज्य की 42 में से 18 सीटें जीती थीं। इसके बाद से भाजपा वहां की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में उभरी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस की सरकार को लोकतांत्रिक तरीके से सत्ता से बेदखल करने के लिए पार्टी एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री इस सिलसिले में लगातार राज्य का दौरा कर रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।