भोपाल जहर कांड में एक और सदस्य ने गवाई अपनी जान, 4 आरोपियों पर हुआ मामला दर्ज

भोपाल जहर कांड में एक और सदस्य ने गवाई अपनी जान, 4 आरोपियों पर हुआ मामला दर्ज

शनिवार को 19 वर्षीय बेटी ग्रिश्मा जोशी की भी मौत हो गई। वारदात के पीछे सूदखोरी का मामला सामने आया था। जहर पीने से पहले परिवार ने लाइव वीडियो भी बनाया था। साथ ही सुसाइड नोट लिखकर सोशल मीडिया में पोस्ट किया था।

भोपाल। राजधानी भोपाल में एक ही परिवार के 5 सदस्यों ने जहर खा लिया था। अब इलाज के दौरान परिवार की 19 वर्षीय बड़ी बेटी गिरिश्मा की भी मौत हो गई है। जिंदगी और मौत से 24 घंटे लड़ने के बाद शनिवार सुबह युवती की मौत हो गई। इस मामले में अबतक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले शुक्रवार को इलाज के दौरान सबसे पहेल 16 वर्षीय पूर्वी जोशी की मौत हो गई थी। वहीं इलाज के दौरान 80 वर्षीय नंदनी जोशी की मौत हो गई थी।

इसे भी पढ़ें:भय्यू महाराज सुसाइड केस में हुआ बड़ा खुलासा, वायरल हुई व्हाट्सएप चैट 

आपको बता दें कि शनिवार सुबह विधायक कृष्णा गौर ने अस्पताल पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात कर डॉक्टरों से स्थिति की जानकारी ली। इसी कड़ी में विधायक ने सरकार की ओर से 2 लाख रुपय का चेक भी सौंपा। वहीं मामले में पुलिस ने 2 महिलाओं को हिरासत में लिया है। 

जानकारी के मुताबिक आत्महत्या मामले में कार्रवाई पिपलानी पुलिस ने 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आईपीसी की धारा 306 के तहत केस दर्ज हुआ है। बताया जा रहा है कि आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज हुआ है। रानी, बबली, कमला, उर्मिला के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि इन्हीं से संजय जोशी के परिवार का विवाद हुआ था। 

इसे भी पढ़ें:भोपाल-खजुराहो एक्सप्रेस समेत 5 ट्रेनों में मिलेगा जनरल टिकट 

आपको बता दें कि शुक्रवार सुबह राजधानी भोपाल के न्यू अशोक विहार कॉलोनी आनंद नगर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने आत्महत्या करने जहर पी लिया था। घटना में 16 वर्षीय बच्ची पूर्वी जोशी और 80 वर्षीय नंदनी जोशी की मौत इलाज के दौरान हो गई थी। वहीं पेशे से मैकेनिक घर के मुखिया 47 साल के संजीव जोशी, पत्नी अर्चना और 19 वर्षीय  बेटी ग्रिश्मा जोशी का इलाज चल रहा था।

वहीं शनिवार को 19 वर्षीय  बेटी ग्रिश्मा जोशी की भी मौत हो गई। वारदात के पीछे सूदखोरी का मामला सामने आया था। जहर पीने से पहले परिवार ने लाइव वीडियो भी बनाया था। साथ ही सुसाइड नोट लिखकर सोशल मीडिया में पोस्ट किया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।