पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को लेकर अशोक गहलोत ने PM मोदी को फिर लिखा पत्र

Ashok Gehlot
मुख्यमंत्री ने जुलाई और अक्टूबर 2018 में दो अलग-अलग मौकों पर मोदी के राजस्थान आमगन के दौरान उनके संबोधनों में ईआरसीपी के महत्व और इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की स्वीकृति का भी उल्लेख किया है।
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की मांग दोहराते हुए एक बार फिर इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। गहलोत ने राज्य के पूर्वी हिस्से के 13 जिलों में पेयजल की उपलब्धता में कमी की ओर प्रधानमंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए लिखा है कि इस परियोजना से इन जिलों में रहने वाली बड़ी जनसंख्या को पीने के लिए स्वच्छ पानी के गंभीर संकट से राहत मिल सकेगी। साथ ही, इस परियोजना के तहत 2 लाख हेक्टेयर नया सिंचाई क्षेत्र विकसित किया जाना भी प्रस्तावित है। 

इसे भी पढ़ें: जेपी नड्डा का विपक्ष पर बड़ा हमला, कहा- मोदी का विरोध करते करते देश का विरोध शुरू कर दिया

मुख्यमंत्री ने जुलाई और अक्टूबर 2018 में दो अलग-अलग मौकों पर मोदी के राजस्थान आमगन के दौरान उनके संबोधनों में ईआरसीपी के महत्व और इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की स्वीकृति का भी उल्लेख किया है। पत्र में गहलोत ने लिखा कि भारत सरकार द्वारा विभिन्न राज्यों में 16 बहुउद्देशीय सिंचाई परियोजनाओं को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिया गया है, लेकिन राजस्थान की किसी भी परियोजना को अभी तक राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा प्राप्त नहीं हुआ है। गहलोत इस मुद्दे पर पहले भी दो बार प्रधानमंत्री को पत्र लिख चुके हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़