अशोक गहलोत का दावा, हमने आधे चुनावी वादे दो साल में ही पूरे कर दिखाए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 26, 2020   09:40
अशोक गहलोत का दावा, हमने आधे चुनावी वादे दो साल में ही पूरे कर दिखाए

गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार आने वाले तीन साल में और अधिक मजबूती के साथ काम करेगी। अपनी सरकार के दो साल पूरे होने पर यहां मीडिया से संवाद करते हुए गहलोत ने आरोप लगाया कि चुनावों में एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं देने वाली भाजपा ने एक मुसलमान नेता का इस्‍तेमाल पिछले दिनों उनकी सरकार गिराने के षडयंत्र में किया।

जयपुर। राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार ने अपने आधे चुनावी वादे पहले दो साल में ही पूरे कर दिए तथा आने वाले तीन साल में वह और अधिक मजबूती से काम करेगी। इसके साथ ही गहलोत ने भाजपा पर आरोप लगाया कि एक भी मुसलमान को चुनावों में टिकट नहीं देने वाली पार्टी ने एक मुसलमान का इस्‍तेमाल उनकी सरकार गिराने के षडयंत्र में किया। गहलोत ने कहा,‘‘ चुनावी घोषणा पत्र में किये लगभग 500 वादों में से दो वर्ष में ही यदि 50% वादे पूरे हो जाएं इससे बड़ी उपलब्धि क्या हो सकती है।’’ उन्होंने कहा,‘‘कोविड-19 की चुनौती को हमने अवसर में बदला। ‘राजस्थान सतर्क है’ और ‘कोई भूखा ना सोये’ के संकल्प के साथ जीवन और आजीविका बचाने का पूरा ध्यान रखा।’’

गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार आने वाले तीन साल में और अधिक मजबूती के साथ काम करेगी। अपनी सरकार के दो साल पूरे होने पर यहां मीडिया से संवाद करते हुए गहलोत ने आरोप लगाया कि चुनावों में एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं देने वाली भाजपा ने एक मुसलमान नेता का इस्‍तेमाल पिछले दिनों उनकी सरकार गिराने के षडयंत्र में किया। गहलोत ने यह आरोप भाजपा के राज्‍यसभा सदस्‍य सैयद जफर इस्‍लाम पर राज्‍य में जुलाई महीने में उपजे राजनीतिक संकट में विधायकों की कथित खरीद फरोख्‍त में कथित तौर पर शामिल होने का आरोप लगाते हुए लगाया। उस समय तत्‍कालीन उप मुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने अनेक विधायकों के साथ बगावत की थी जिससे गहलोत सरकार की स्थिरता को लेकर सवाल उठा था। गहलोत ने कहा कि भाजपा ने बिहार व उत्तर प्रदेश के पिछले विधानसभा चुनाव में मुसलमानों को ‘एक दिखावटी टिकट तक’ नहीं दी लेकिन एक मुसलमान का इस्‍तेमाल चुनी हुई सरकार गिराने में करती है। अपनी सरकार पर आए संकट का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा,‘‘ सब हथियार उन्होंने अपना लिए। चाहे धर्मेंद्र प्रधान हो या चाहे जफर इस्लाम... एक नया जफर इस्लाम पैदा हुआ है देश में... जो चाहे मध्य प्रदेश की सरकार हो या राजस्थान की ... एक मुसलमान को टिकट नहीं देती भाजपा। विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 400 और बिहार में 250 के करीब टिकट दी जाती हैं भाजपा एक टिकट किसी मुसलमान को नहीं देती। और मुसलमानों को सरकारें गिराने के लिए इस्तेमाल कर रही है।’’ 

इसे भी पढ़ें: देश दुनिया के निवेशकों को आकर्षित कर सकता है राजस्थान: अशोक गहलोत

उल्‍लेखनीय है कि गहलोत ने कुछ दिन पहले भी एक कार्यक्रम में कहा था कि उस संकट के समय केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कांग्रेस के बागी विधायकों से मिले थे। गहलोत ने कहा,‘‘हमारे विधायकों की जब मुलाकात हुई अमित शाह से तो वहां धर्मेन्द्र प्रदान बैठे हुए थे तथा ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा में ले जाने वाले सैयद जफर इस्लाम बैठे थे।’’ एक सवाल के जवाब में गहलोत ने कहा,‘‘ भाजपा ने इस देश में लोकतंत्र के साथ विश्वासघात किया है। आप लोकतांत्रिक ढंग से जीतने की बात करते हो... जीतते हो और आप जो आचरण कर रहे हो वह लोकतंत्र के अनुकूल नहीं है। यह बहुत गंभीर बात है।’’ गहलोत ने कहा कि भाजपा ने उनकी सरकार को गिराने का षडयंत्र किया उसका भी आने वाले अगले चुनाव में इस राज्यकी जनता बदला लेगी। उन्होंने कहा,‘‘ हमारी चुनी हुई सरकार को गिराने की कोशिश में अमित शाह, धर्मेंद्र प्रधान व जफर इस्लांम तथा राजस्थान में भाजपा के एक केंद्रीय मंत्री सहित उसके चार नेता शामिल थे।’’ 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।