असम में कोरोना के चलते सात दिन के लिए सील हुआ स्कूल, परिसर को निरुद्ध क्षेत्र घोषित किया गया

Coronavirus
असम सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में आ रही गिरावट के कारण हवाईअड्डों और रेलवे स्टेशनों पर एक मार्च से कोविड-19 की जांच की अनिवार्यता समाप्त कर दी है।

गुवाहाटी। गुवाहाटी स्थित डॉन बॉस्को स्कूल के एक अध्यापक के परिवार के सदस्य और एक अन्य अध्यापक के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद स्कूल को रविवार से सात दिन के लिए सील कर दिया गया। सूत्रों ने बताया कि दोनों शिक्षक प्राधिकारियों को यह सूचित किए बिना कक्षाओं में पढ़ाने जा रहे थे कि वे संक्रमित हैं या संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं। कामरूप मेट्रोपोलिटन उपायुक्त विश्वजीत पेगु ने संपूर्ण स्कूल परिसर को 27 फरवरी तक ‘निरुद्ध क्षेत्र’ घोषित किया है, ताकि अन्य अध्यापकों एवं छात्रों में संक्रमण फैलने से रोका जा सके। 

इसे भी पढ़ें: देश में फिर बढ़ रहे कोरोना के मामले, पिछले 24 घंटे में मिले 14,264 नए मरीज 

आदेश में कहा गया है कि स्कूल के सभी शिक्षकों को कोविड-19 संबंधी जांच के लिए सोमवार को स्कूल आने का निर्देश दिया गया है। इस बीच, असम सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में आ रही गिरावट के कारण हवाईअड्डों और रेलवे स्टेशनों पर एक मार्च से कोविड-19 की जांच की अनिवार्यता समाप्त कर दी है। असम में संक्रमण के कुल 2.17 लाख मामले सामने आ चुके हैं और 1,091 लोगों की मौत हो चुकी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़