CJI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए पैनल बनाने को लिखा था पत्र: वेणुगोपाल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 11 2019 8:59AM
CJI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए पैनल बनाने को लिखा था पत्र: वेणुगोपाल
Image Source: Google

अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने कहा कि मैं स्वीकार करता हूं कि मैंने शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त तीन न्यायाधीशों की समिति गठित करने की मांग वाला पत्र आंतरिक समिति के गठन के पहले लिखा था।

नयी दिल्ली। अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त तीन न्यायाधीशों की समिति गठित करने के लिए उच्चतम न्यायालय के सभी न्यायाधीशों को पत्र लिखा था। यह बात मामले की जांच के लिए आंतरिक समिति के गठन से पहले की है। वेणुगोपाल ने इस मुद्दे पर सरकार के साथ कथित मतभेद और इस्तीफा देने पर विचार करने जैसी खबरों पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा कि द वायर की खबर पूरी तरह से गलत है सिवाय इसके कि मैंने एक पत्र लिखा था और स्पष्टीकरण दिया था।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: विश्व में शांति और सकारात्मकता की पहले से ज्यादा जरूरत: पूर्व सीजेआई मिश्रा

सर्वोच्च विधि अधिकारी ने कहा कि उन्होंने 22 अप्रैल को एक पत्र लिखा था। यह बात सीजेआई के खिलाफ उच्चतम न्यायालय की एक पूर्व कर्मचारी की ओर से यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए न्यायमूर्ति एस ए बोबडे की अगुवाई में तीन सदस्यीय आंतरिक समिति के गठन से पहले की है। वेणुगोपाल ने कहा कि मैं स्वीकार करता हूं कि मैंने शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त तीन न्यायाधीशों की समिति गठित करने की मांग वाला पत्र आंतरिक समिति के गठन के पहले लिखा था। उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने दूसरे पत्र में अपनी स्थिति स्पष्ट करते हुए लिखा था कि उन्होंने पहला पत्र बार के वरिष्ठ सदस्य की हैसियत से लिखा था, जिसके पास 65 वर्ष का अनुभव है।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप