बीरभूम हिंसा: CBI का बड़ा एक्शन, मुंबई से 4 लोगों को किया गिरफ्तार

Birbhum Violence
अभिनय आकाश । Apr 07, 2022 6:39PM
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को मुंबई से चार संदिग्धों को गिरफ्तार किया। सीबीआई ने बीरभूम हिंसा मामले में बप्पा शेख और शब्बू शेख समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्हें ट्रॉजिंट रिमांड के लिए मुंबई की अदालत में पेश किया गया है। सीबीआई ने उन्हें मोबाइल ट्रैकिंग के जरिये गिरफ्तार किया है।

पश्चिम बंगाल के बीरभूम में तृणमूल कांग्रेस के नेता की हत्या के बाद हुई हिंसा को लेकर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का बड़ा एक्शन देखने को मिला है। सीबीआई ने इस मामले में मुंबई से चार लोगों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने कहा कि पिछले महीने कम से कम नौ लोगों की जान लेने वाले बीरभूम हिंसा मामले में अपनी पहली गिरफ्तारी हुई है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को मुंबई से चार संदिग्धों को गिरफ्तार किया। सीबीआई ने बीरभूम हिंसा मामले में बप्पा शेख और शब्बू शेख समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्हें ट्रॉजिंट रिमांड के लिए मुंबई की अदालत में पेश किया गया है। सीबीआई ने उन्हें मोबाइल ट्रैकिंग के जरिये गिरफ्तार किया है। 

इसे भी पढ़ें: बाबुल सुप्रियो को भाजपा से नहीं है कोई डर, बोले- राजनीति से आहत होकर लिया था रिजायरमेंट का फैसला

इससे पहले दिन में कलकत्ता उच्च न्यायालय ने 21 मार्च की हिंसा पर केंद्रीय जांच एजेंसी की प्रारंभिक रिपोर्ट को रिकॉर्ड में लिया। उच्च न्यायालय ने आगे अपना आदेश सुरक्षित रख लिया कि क्या केंद्रीय एजेंसी को उप ग्राम प्रधान की हत्या की भी जांच करनी चाहिए, जिसने कथित तौर पर जवाबी हिंसा को भड़काया था। द इंडियन एक्सप्रेस को सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने रिपोर्ट में उल्लेख किया है कि सबूतों का एक बड़ा हिस्सा नष्ट कर दिया गया है।

बता दें कि रामपुरहाट में टीएमसी नेता की हत्या के बाद हिंसा भड़क गई थी। यहां कई घरों को आग के हवाले कर दिया गया था। आग से जलकर 2 बच्चों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी। इसमें 3 महिलाएं भी शामिल थीं। बीरभूम हिंसा में कोलकाता हाईकोर्ट ने भी स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की थी। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़