भाजपा-शिवसेना का साथ आना पहले से ही तय था: शरद पवार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 19, 2019   15:19
भाजपा-शिवसेना का साथ आना पहले से ही तय था: शरद पवार

पवार ने कहा कि राकांपा और कांग्रेस बुधवार को नांदेड़ में पहली संयुक्त रैली करेंगी जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं महाराष्ट्र के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे और दोनों दलों के वरिष्ठ नेता भाग लेंगे।

मुंबई। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने मंगलवार को कहा कि वह भाजपा और शिवसेना के बीच सीटों के बंटवारे पर समझौते संबंधी घोषणा से हैरान नहीं हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भगवा भाइयों के बीच चुनाव संबंधी समझौता पहले से ही तय था। अपने तनावपूर्ण संबंधों से पार पाते हुए भाजपा और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने लोकसभा एवं महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ने की सोमवार को घोषणा की। पवार ने कहा, ‘‘मिलकर चुनाव लड़ने की उनकी घोषणा में कुछ नया नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि 25 से अधिक वर्षों से गठबंधन साझीदार भाजपा एवं शिवसेना के मिलकर चुनाव लड़ने की ही उम्मीद थी। पवार ने केंद्र और महाराष्ट्र में 2014 में राजग के सत्ता में आने के बाद से दोनों सत्तारूढ़ सहयोगियों के बीच लगातार तकरार का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘वे पिछले कुछ वर्षों में (एक दूसरे के खिलाफ) खुलकर बोलते रहे हैं, लेकिन उनके मिलकर चुनाव लड़ने की ही संभावना थी।’’ राकांपा और कांग्रेस के बीच चुनाव से पहले आपसी समझ की स्थिति के बारे में पवार ने कहा कि उन्हें अभी ‘‘एक या दो सीटों’’ पर सर्वसम्मति बनानी है। हालांकि पवार ने उन सीटों का नाम नहीं बताया जिन पर सहमति नहीं बनी है। 

यह भी पढ़ें: लॉबिस्ट दीपक तलवार को हिरासत में लेने के लिये CBI दिल्ली हाई कोर्ट पहुंची

पवार ने कहा कि राकांपा और कांग्रेस बुधवार को नांदेड़ में पहली संयुक्त रैली करेंगी जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं महाराष्ट्र के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे और दोनों दलों के वरिष्ठ नेता भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि दोनों दलों की एक अन्य संयुक्त रैली 23 फरवरी को मराठवाड़ा के बीड़ में होगी। कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि दोनों दलों के बीच औरंगाबाद एवं अहमदनगर लोकसभा सीटों को लेकर सहमति अभी नहीं बनी है।  नेता ने कहा, ‘‘कांग्रेस अहमदनगर सीट से उम्मीदवार खड़ा करना चाहती है लेकिन राकांपा इस पर राजी नहीं हो रही है क्योंकि उसे लगता है कि इस क्षेत्र में (कांग्रेस की तुलना में) उसका अधिक प्रभाव है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।