भूपेश सरकार से भाजपा ने हाथियों की लगातार मौतों को लेकर पूछा सवाल

भूपेश सरकार से भाजपा ने हाथियों की लगातार मौतों को लेकर पूछा सवाल

प्रदेश में लगातार हाथियों की हो रही मौतों ने सबकी चिन्ता बढ़ा दी है। पूरे मामले की जांच को लेकर केवल औपचारिकता की जा रही है। जशपुर में एक हाथी की मौत करंट के तार में फंसाए जाने पर हो गई। पूरे मसले की जानकारी के लिये सांसद श्रीमती गोमती साय मौके पर भी गईं थीं।

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने जशपुर सहित पूरे प्रदेश में हो रहे लगातार हाथियों की मौत पर दु:ख जताते हुए यह आशंका व्यक्त की है कि कहीं प्रदेश में  हाथियों की हत्या तो नहीं की जा रही है? और, कहीं कोई गिरोह पूरे प्रदेश में सक्रिय तो नहीं है? कौशिक को यह भी आशंका है कि इस तरह से हाथियों की हत्या करके तस्करी की जा रही होगी।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि अब तक 08 हाथियों की मौत की जो ख़बरें मिली हैं, उनमें हाथियों की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में होने और उनको ज़हर देकर मारे जाने तक की बातें भी सामने आ रही हैं। इससे सवाल उठता है कि क्या कहीं और भी हाथियों को मार दिया गया होगा जिसकी ख़बर ही किसी को न लगी हो। प्रदेश में लगातार हाथियों की हो रही मौतों ने सबकी चिन्ता बढ़ा दी है। पूरे मामले की जांच को लेकर केवल औपचारिकता की जा रही है। जशपुर में एक हाथी की मौत करंट के तार में फंसाए जाने पर हो गई। पूरे मसले की जानकारी के लिये सांसद श्रीमती गोमती साय मौके पर भी गईं थीं। 

इसे भी पढ़ें: प्रतिपक्ष ने कहा कोरोना कैपिटल बनता जा रहा है रायपुर

उन्होनें कहा कि हाथियों की मौत के इन मामलों की सूक्ष्मता से जांच की ज़रूरत है। अब तक जांच के नाम पर केवल स्थानांतरण की औपचारिकता व कुछ छोटे कर्मचारियों पर निलंबन की कार्रवाई की जा रही है। लेकिन मुख्य दोषियों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस दिशा में प्रदेश सरकार को कठोर कदम उठाने चाहिए। कौशिक ने कहा कि हाथियों के मौत हमारी भावनाओं से जुड़ा मुद्दा है और लगातार हाथियों की मौत से पूरे प्रदेशवासी व्याकुल और दु:खी हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।