Breaking | मथुरा में भाजपा प्रत्याशी के प्रस्तावक की गोली मारकर हत्या, कार्यकर्ताओं ने किया हाईवे जाम

Breaking | मथुरा में भाजपा प्रत्याशी के प्रस्तावक की गोली मारकर हत्या, कार्यकर्ताओं ने किया हाईवे जाम

बदमाश बाइक पर सवार थे। बताया जा रहा है कि प्रधान को तीन गोली मारी गई है। घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई घटना की जानकारी मिलते ही कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर शव को रखकर जाम लगा दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मांग करने लगे।

उत्तर प्रदेश से में चुनावी जोर अपने चरम पर है। इन सब के बीच अब हिंसा की भी खबरें आने लगी है। मथुरा से मिल रही खबर के मुताबिक प्रसिद्ध शनि देव मंदिर कोकिला वन में एक प्रधान की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि जिस वक्त इस घटना को अंजाम दिया गया उस वक्त प्रधान शनि देव मंदिर के दर्शन करने के बाद परिक्रमा लगा रहे थे। बदमाश बाइक पर सवार थे। बताया जा रहा है कि प्रधान को तीन गोली मारी गई है। घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई घटना की जानकारी मिलते ही कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर शव को रखकर जाम लगा दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मांग करने लगे।

इसे भी पढ़ें: Amit shah in West UP: पश्चिमी यूपी में अमित शाह लगा रहे दम, भाजपा के पक्ष में कितना बन पाएगा सियासी माहौल?

घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। लोगों ने जब गोलियों की आवाज सुनी तो मौके पर गए। पता चला कि मृतक पैगांव गांव का प्रधान रामवीर है। रामवीर कोकिला वन में भगवान शनि देव के दर्शन करने आए थे। फिलहाल जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और घटना की जांच में जुटी गई। पुलिस ने रामवीर के शव को अपने कब्जे में ले लिया है और उसे पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। मौके पर कई थानों की फोर्स मौजूद है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: मथुरा में पुलिसकर्मी को धमकाने के आरोप में भाजपा नेता के खिलाफ मामला दर्ज

प्रधान रामवीर कैबिनेट मंत्री और छाता क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी चौधरी लक्ष्मी नारायण के चुनाव प्रस्तावक भी थे। रामवीर ने अपने गांव में चौधरी लक्ष्मी नारायण की एक सभा भी कराई थी। यही कारण है कि रामवीर की हत्या को अब चुनावी रंजिश से भी जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी हुई है। कुछ भी ठोस जानकारी देने से बच रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।