भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस से निष्कासित किशोर उपाध्याय, टिहरी से बनाया उम्मीदवार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 28, 2022   14:40
भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस से निष्कासित किशोर उपाध्याय, टिहरी से बनाया उम्मीदवार

भाजपा ने उत्तराखंड के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को टिहरी से उम्मीदवार बनाया।वह नारायण दत्त तिवारी के नेतृत्व में बनी प्रदेश की पहली निर्वाचित सरकार में उद्योग राज्य मंत्री थे। वह वर्ष 2014 से 2017 तक उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे।

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को उत्तराखंड कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को टिहरी से अपना उम्मीदवार घोषित किया। उपाध्याय ने बृहस्पतिवार को भाजपा की सदस्यता ली थी। भाजपा ने डोइवाला से बृजभूषण गैरोला को टिकट दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिछला चुनाव डोइवाला से ही जीता था। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा को पत्र लिखकर चुनाव ना लड़ने की इच्छा जताई थी। इस प्रकार भाजपा ने राज्य की सभी 70 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं। उपाध्याय ने बृहस्पतिवार को देहरादून में केंद्रीय मंत्री व उत्तराखंड के चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी, रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। उपाध्याय पूर्व में दो बार टिहरी से विधायक रह चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: भाजपा को झटका, पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत कांग्रेस में हुए शामिल

वह नारायण दत्त तिवारी के नेतृत्व में बनी प्रदेश की पहली निर्वाचित सरकार में उद्योग राज्य मंत्री थे। वह वर्ष 2014 से 2017 तक उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे। उपाध्याय पिछले काफी समय से वरिष्ठ नेता होने के बावजूद कांग्रेस में उपेक्षित महसूस कर रहे थे। उन्हें अनुशासनहीनता के आरोप में कांग्रेस की सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया था। इस पहाड़ी राज्य की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए एक ही चरण में 14 फरवरी को मतदान होना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।