कराड-चिपलुन रेल लाइन की राशि बुलेट ट्रेन को दे रही है भाजपा सरकार: चव्हाण

BJP govt diverting Karad-Chiplun rail line funds to bullet
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने आज आरोप लगाया कि राज्य सरकार प्रस्तावित कराड चिपलुन रेलवे लाइन परियोजना की राशि मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को देने की प्रक्रिया में है।

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार प्रस्तावित कराड चिपलुन रेलवे लाइन परियोजना की राशि मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को देने की प्रक्रिया में है। चव्हाण ने कहा, ‘‘अगस्त 2016 में कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड के साथ करार करने वाली शापूरजी पलूनजी कंपनी प्राईवेट लिमिटेड ने अब (कराड-चिपलुन रेलवे लाइन) परियोजना से अपने हाथ खींच लिए हैं। माना जा रहा था कि यह कंपनी 3,195 करोड़ रुपये की लागत से कराड और चिपलुन के बीच एक नई रेलवे लाइन का निर्माण करेगी।’’

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘एमओयू पर हस्ताक्षर होने के बाद से कोई निर्णय नहीं लिया गया और कंपनी को करीब एक साल का इंतजार करना पड़ा। अब इसने अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं। मुझे संदेह है कि ऐसा बुलेट ट्रेन को धन देने के लिए किया जा रहा है।’’प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए जापान से 88,000 करोड़ रुपए ऋण लिया गया है।

जापान इंटरनेशलन कॉरपोरेशन एजेंसी (जीआईसीए) 0.1 प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर पर यह राशि मुहैया कराएगी। यह ऋण जापान को 50 सालों में लौटाना है। जिसमें 15 साल का ग्रेस पीरियड भी है। बुलेट ट्रेन परियोजना 1,10,000 करोड़ रुपये की है।चव्हाण ने कहा कि इन आंकड़ों में भूमि अधिग्रहण का खर्चा शामिल नहीं है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़