बीजेपी के नेता ने लगाए केपी यादव पर गंभीर आरोप, शिकायत करने पहुंचे पार्टी दफ्तर

बीजेपी के नेता ने लगाए केपी यादव पर गंभीर आरोप, शिकायत करने पहुंचे पार्टी दफ्तर

प्रेम नारायण वर्मा ने कहा कि सगे भांजे की शादी में मुझपर केपी यादव के गुंडों ने हमला किया। और 5 लाख की फसल छीन ली। मुझे परेशान किया जा रहा है। साथ ही झूठा केस दर्ज करवाया है। केपी यादव की दबंगता से परेशान हूं।

भोपाल। केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया  के खिलाफ लेटर लिखने वाले शिवपुरी-गुना लोकसभा सीट से सांसद केपी यादव फिर से सिर्खियों में है। इस बार बीजेपी सांसद पर उनके ही पार्टी के एक बड़े नेता ने गंभीर आरोप लगाए हैं।

दरअसल गुना जिले के बीजेपी किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष प्रेम नारायण वर्मा ने सांसद पर गुंडागर्दी और जमीनों के हड़पने का आरोप लगाया है। बीजेपी किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष जिले के कई बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ शनिवार को पार्टी दफ्तर पहुंचर आला पदाधिकारियों से शिकायत की है।

इसे भी पढ़ें:रीवा में बनारस हाईवे को बम से उड़ाने की कोशिश, यूपी चुनाव से पहले फैलाई जा रही है दहशत 

वहीं शिकायत करते हुए प्रेम नारायण वर्मा ने कहा कि सगे भांजे की शादी में मुझपर केपी यादव के गुंडों ने हमला किया। और 5 लाख की फसल छीन ली। मुझे परेशान किया जा रहा है। साथ ही झूठा केस दर्ज करवाया है। केपी यादव की दबंगता से परेशान हूं। अगर गुंडागर्दी बंद नहीं की गई तो पीएम आवास दिल्ली पहुंचकर धरने पर बैठूंगा। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को हराने वाले गुना सांसद केपी यादव ने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर अपनी पीड़ा व्यक्त की थी। केपी यादव ने लेटर में सिंधिया समर्थकों पर कई तरह के आरोप लगाए थे। बीजेपी सांससद केपी यादव ने पत्र में लिखा था कि-यहां तक की सांसद होने के बावजूद मेरे क्षेत्र के कार्यक्रमों में मुझे नहीं बुलाया जाता। मेरे ही क्षेत्र के शिलालेखों में सांसद होने के नाते ना मेरा नाम लिखा जाता और ना मुझे बुलाया जाता है।

इसे भी पढ़ें:हिंदी में भी होगी एमबीबीएस की पढ़ाई, मंत्री सारंग ने दी जानकारी 

उन्होंने आगे लिखा कि इस स्थिति को काबू में नहीं किया गया तो बीजेपी को नुकसान होगा और व्यक्तिगत निष्ठा को तवज्जो मिलने लगेगी। केंद्र और राज्य में सिंधिया एवं उनके समर्थकों मिल रहे अहमियत की वजह से बीजेपी सांसद यादव को अपने ही क्षेत्र में संघर्ष करना पड़ रहा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।