चुनाव प्रचार सामग्री जब्त किये जाने के मामले में शाहजहांपुर से भाजपा सांसद अरुण सागर फरार घोषित

court order
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Common
शाहजहांपुर जिले की विशेष एमपी/एमएलए अदालत ने चुनाव प्रचार सामग्री जब्त किये जाने के एक मामले में अदालत में पेश नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद अरुण सागर को फरार घोषित कर दिया है।

शाहजहांपुर जिले की विशेष एमपी/एमएलए अदालत ने चुनाव प्रचार सामग्री जब्त किये जाने के एक मामले में अदालत में पेश नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद अरुण सागर को फरार घोषित कर दिया है। विशेष लोक अभियोजन अधिकारी नीलिमा सक्सेना ने बुधवार को पीटीआई— को बताया कि लोकसभा चुनाव के दौरान 12 मार्च 2019 को तत्कालीन उपजिलाधिकारी सदर ने बरेली—जलालाबाद मार्ग पर भाजपा प्रत्याशी अरुण सागर की प्रचार सामग्री को जब्त किया था।

इस मामले में कांट थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। उन्होंने बताया कि इसी मामले में भाजपा सांसद अरुण सागर कई बार समन के बावजूद अदालत में पेश नहीं हुए और इसके बाद उनके विरुद्ध अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। उन्होंने बताया कि जब यह वारंट जारी होने के बाद भी वह अदालत में हाजिर नहीं हुए तब न्यायाधीश आसमां सुल्ताना ने गत 21 नवंबर को उन्हें फरार घोषित कर दिया।

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने सपा पर कसा तंज, कहा- मैनपुरी उपचुनाव में हार के डर से प्रचार में जुटा पूरा ‘सैफई परिवार’

सक्सेना ने बताया कि अदालत द्वारा दिए गए आदेश में कहा गया है कि आदेश की प्रति को सांसद के आवास के साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर भी चस्पा किया जाए। गौरतलब है कि सांसद अरुण कुमार सागर भाजपा के वर्तमान सांसद है। उनसे इस बारे में बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे सम्पर्क नहीं हो सका।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़