नीतीश के पलटी मारने पर भाजपा की आई पहली प्रतिक्रिया, आरके सिंह बोले- इसमें नैतिकता नहीं, उन्हें शर्म आनी चाहिए

RK singh
ANI
अंकित सिंह । Aug 09, 2022 4:39PM
यह तीसरा मौका है जब नीतीश कुमार अचानक किसी गठबंधन से पलटी मार कर दूसरे गठबंधन में पहुंचे हैं। 2013 में उन्होंने अचानक भाजपा से दूरी बना ली थी। उसके बाद वह राजद के साथ सरकार में थे। 2017 में उन्होंने राजद से दूरी बनाई थी और एक बार फिर से भाजपा के साथ आए थे।

बिहार में राजनीतिक उठापटक का दौर जारी है। एनडीए के नेतृत्व वाली सरकार से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया है। जानकारी के मुताबिक अब वह राजद और कांग्रेस के सहयोग से एक बार फिर से नई सरकार का गठन करेंगे। इसका मतलब साफ है कि जदयू और भाजपा का रिश्ता टूट चुका है। नीतीश कुमार ने साफ तौर पर कहा है कि हमने एनडीए छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि दोनों सदनों के सांसद सारे विधायक और विधानपार्षद से सारी मीटिंग आज हुई। सभी की इच्छा यही थी की हमें NDA छोड़ देना चाहिए। तो जैसी सबकी इच्छा थी हमने उसी को स्वीकार कर लिया और जो में NDA की सरकार में मुख्यमंत्री था उस पद से इस्तीफा सौंप दिया।

इसे भी पढ़ें: CM पोस्ट छोड़ने के बाद राबड़ी देवी के आवास पहुंचे नीतीश कुमार, RJD नेताओं के साथ चल रहा मंथन

यह तीसरा मौका है जब नीतीश कुमार अचानक किसी गठबंधन से पलटी मार कर दूसरे गठबंधन में पहुंचे हैं। 2013 में उन्होंने अचानक भाजपा से दूरी बना ली थी। उसके बाद वह राजद के साथ सरकार में थे। 2017 में उन्होंने राजद से दूरी बनाई थी और एक बार फिर से भाजपा के साथ आए थे। अब वह भाजपा से अचानक दूरी बनाकर राजद के साथ मिल गए हैं। इसी को लेकर अब भाजपा की ओर से पहली प्रतिक्रिया भी आ गई है। भाजपा के नेता और केंद्रीय मंत्री राजकुमार सिंह ने साफ तौर पर नीतीश कुमार के इस कदम की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि राजद के 15 साल के शासन ने राज्य को पीछे ले लिया, सीएम नीतीश कुमार ने भी कई बार ऐसा कहा। वह राजद के साथ गठबंधन में जाने को कैसे जायज ठहराएंगे, जिसे उन्होंने भ्रष्ट बताया है? यह सब सत्ता के लिए राजनीति है, इसमें कोई नैतिकता नहीं है और उन्हें शर्म आनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा, नई सरकार बनाने का दावा भी किया पेश, बोले- हमने NDA छोड़ दिया

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को राज्यपाल फागु चौहान से राजभवन में मुलाकात की। इस दौरान नीतीश कुमार ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा है। इसके साथ ही उन्होंने राज्यपाल के सामने नई सरकार बनाने का दावा भी पेश किया है। जिसमें उन्होंने 160 विधायकों के समर्थन का दावा किया। जदयू के राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के ट्वीट के बाद राजनीति गर्मायी हुई है। जिसमें उन्होंने कहा कि नए स्वरूप में नये गठबंधन के नेतृत्व की जवाबदेही के लिए नीतीश कुमार को बधाई। नीतीश आगे बढ़िए। देश आपका इंतजार कर रहा है। 

अन्य न्यूज़