राहुल का जनेऊ दिखाना भाजपा की वैचारिक विजय: आदित्यनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2018   10:42
राहुल का जनेऊ दिखाना भाजपा की वैचारिक विजय: आदित्यनाथ

आदित्यनाथ ने इंदौर सीट से वर्ष 1989 से लगातार लोकसभा चुनाव जीतने के महाजन के कीर्तिमान का उल्लेख करते हुए कहा, जैसे महाजन भाजपा के लिये चुनावी जीत की गारंटी हैं, वैसे ही राहुल कांग्रेस के लिये चुनावी हार की गारंटी हैं।

इंदौर। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा धार्मिक वस्त्रों में प्रमुख मंदिरों में दर्शन-पूजन की ओर सीधा इशारा करते हुए उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को राहुल को "छद्मभेषी" करार दिया। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा खुद को जनेऊधारी के रूप में प्रस्तुत करना भाजपा की वैचारिक विजय है। आदित्यनाथ ने यहां वृंदावन कॉलोनी में आयोजित चुनावी सभा में कहा, "राहुल मीडिया को बता रहे हैं कि वह जनेऊ पहनते हैं। लेकिन हमारे धर्म में मंदिर जाने के लिये जनेऊ पहनना कोई अनिवार्य शर्त नहीं है और कोई भी हिंदू मंदिर जा सकता है।" 

उन्होंने कहा, "राहुल जनेऊ धारण करें या न करें, यह उनकी इच्छा। लेकिन उनका जनेऊ दिखाना हमारी वैचारिक विजय है।" पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का नाम लिये बगैर आदित्यनाथ ने दावा किया कि "राहुल के परनाना कहते थे कि वह हिंदू परिवार में दुर्घटनावश पैदा हो गये।" वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, "ऐसे में राहुल ने कम से कम स्वीकार तो किया कि वह जनेऊ धारण करते हैं। हालांकि, जनता को ऐसे छद्मभेषी लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है।" उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री ने लोकसभा अध्यक्ष और स्थानीय सांसद सुमित्रा महाजन से राहुल की तुलना भी की।

आदित्यनाथ ने इंदौर सीट से वर्ष 1989 से लगातार लोकसभा चुनाव जीतने के महाजन के कीर्तिमान का उल्लेख करते हुए कहा, "जैसे महाजन भाजपा के लिये चुनावी जीत की गारंटी हैं, वैसे ही राहुल कांग्रेस के लिये चुनावी हार की गारंटी हैं।" बहरहाल, आदित्यनाथ ने यहां राऊ क्षेत्र में आयोजित एक अन्य चुनावी सभा में महाजन की तारीफ करते वक्त उन्हें "लोकसभा की पहली महिला अध्यक्ष" बता दिया, जबकि संसद के निचले सदन की प्रथम महिला स्पीकर होने का गौरव वरिष्ठ कांग्रेस नेता मीरा कुमार को प्राप्त है। 

आदित्यनाथ ने कहा, "आप सब सौभाग्यशाली हैं कि इंदौरवासियों ने (वर्ष 2014 के पिछले चुनावों में) सुमित्रा ताई (महाजन का लोकप्रिय उपनाम) को चुनकर इस देश की संसद को लोकसभा स्पीकर के रूप में पहली महिला अध्यक्ष दी हैं।"





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...