मुख्यमंत्री जयराम को भाजपा न हटाए-2022 में जनता खुद हटाएगी-कांग्रेस

मुख्यमंत्री जयराम को भाजपा न हटाए-2022 में जनता खुद हटाएगी-कांग्रेस

आज आवश्यकता महंगाई और बेरीज़गारी को रोकने पर मंथन करने की है।प्रदेश में चरमरा चुकी स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने की ज़रूरत है।आमजन परेशानी झेल रहा है।अफसरशाही बेलगाम है।किसान-बागवानों की समस्याएं विकराल रूप ले चुकी हैं।शिक्षा प्रणाली पटड़ी से उतर चुकी है।ऐसे में इन समस्याओं से निपटने की ओर सरकार को ध्यान देने और मंथन करने की ज़रूरत है

धर्मशाला  ।  पिछले तीन दिनों से भाजपा मैराथन बैठकें कर फ़िज़ूल के विषयों पर मंथन कर रही है जबकि महंगाई-बेरोजगारी जैसी अहम समस्याओं पर मंथन होना चाहिए था।चारों उपचुनावों में हार के सदमें से भाजपा इस कदर सकपका गई है कि गैरज़रूरी विषयों पर मंथन कर रही है और प्रदेश की अहम समस्याओं पर चर्चा करना ही भूल गई है।

 

यह प्रतिक्रिया हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने आज दी।उन्होंने कहा कि तीन दिन से भाजपा सरकार समय और धन की बर्बादी करके उन विषयों पर मंथन कर रही है जिनका प्रदेश हित से कोई लेना देना नहीं है।यह भाजपा का मानसिक दिवालियापन है।अगर भाजपा को मंथन करना ही था तो महंगाई,बेरीज़गारी जैसे जनाक्रोश के मुख्य कारणों पर चर्चा करती।लेकिन इस अहम विषयों को छोड़ कर भाजपा मुख्यमंत्री को बदलने या न बदलने पर मंथन कर रही है।दीपक शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भाजपा को नहीं हटाना चाहिए क्योंकि 2022 में जनता इन्हें हटाने का मन बना चुकी है।

 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री ने कैप्टन राम सिंह ठाकुर पर लिखित राजेंद्र राजन की किताब का विमोचन किया

 

आज आवश्यकता महंगाई और बेरीज़गारी को रोकने पर मंथन करने की है।प्रदेश में चरमरा चुकी स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने की ज़रूरत है।आमजन परेशानी झेल रहा है।अफसरशाही बेलगाम है।किसान-बागवानों की समस्याएं विकराल रूप ले चुकी हैं।शिक्षा प्रणाली पटड़ी से उतर चुकी है।ऐसे में इन समस्याओं से निपटने की ओर सरकार को ध्यान देने और मंथन करने की ज़रूरत है लेकिन भाजपा सरकार कुर्सी बचाने के उपाय ढूंढने में समय बर्बाद कर रही है।

 

इसे भी पढ़ें: ज्वालामुखी में काल भैरव अष्टमी धर्मिक श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाई गई

 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि दोबारा सत्ता प्राप्त करने के लिए जिस तरह भाजपा लालायित है यह भाजपा सरकार की सोच को दर्शाता है।इससे साफ पता चलता है कि भाजपा की प्राथमिकता मात्र कुर्सी प्राप्त करना है।जनता की समस्याओं से सरकार को कुछ लेना देना नहीं है।दीपक शर्मा ने कहा कि यह स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है।उन्होंने कहा कि भाजपा अगर जनसमस्याओं के निराकरण हेतु गम्भीरता दिखाते हुए  मंथन करती तो शायद भाजपा के बारे में प्रदेश की जनता कुछ सोचती लेकिन जिस तरह से भाजपा मात्र कुर्सी बचाने और सत्ता प्राप्त करने के लिए चिंतित है उससे जनता को भारी निराशा हुई है।

 

इसे भी पढ़ें: प्रभारी संजय टंडन ने 26/11 हमले के शहीदों को भावभीनि श्रद्धांजलि दी

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि कुर्सी बचाने के भाजपा जितने मर्ज़ी उपाय सोच ले लेकिन 2022 के विधानसभा चुनावों में भाजपा सरकार का जाना तय है।जनता इस निकम्मी,जनविरोधी सरकार को सत्ता से बाहर करने का मन बना चुकी है।दीपक शर्मा ने कहा कि जिस तरह से भाजपा सरकार जनहित के प्रति लापरवाह है और जनता के हितों की अनदेखी कर रही है उसके चलते सरकार के खिलाफ व्याप्त जनाक्रोश को देखते हुए साफ तौर पर कहा जा सकता है कि आगामी चुनावों में भाजपा दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...