विश्वास मत के दौरान भाजपा का हंगामा, फडणवीस बोले- विधानसभा सत्र का आयोजन नियमानुसार नहीं

विश्वास मत के दौरान भाजपा का हंगामा, फडणवीस बोले- विधानसभा सत्र का आयोजन नियमानुसार नहीं

देवेन्द्र फडणवीस ने सदन से कहा कि इस विधानसभा सत्र का आयोजन नियमानुसार नहीं है। महाराष्ट्र विधानसभा सत्र का आयोजन संवैधानिक मानदंडों के तहत नहीं है।

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाडी सरकार शनिवार यानि आज महाराष्ट्र विधानसभा में विश्वास मत साबित करेगी। यह गठबंधन शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस ने मिलकर बनाया है। विश्वास मत के दौरान भाजपा ने जमकर हंगामा किया। भाजपा के 105 विधायक से सदन से वॉकआउट कर लिया। 

देवेन्द्र फडणवीस ने सदन से कहा कि इस विधानसभा सत्र का आयोजन नियमानुसार नहीं है। महाराष्ट्र विधानसभा सत्र का आयोजन संवैधानिक मानदंडों के तहत नहीं है। कार्यवाहक विधानसभा अध्यक्ष दिलीप वाल्से पाटिल ने फडणवीस के दावों को खारिज करते हुए कहा राज्यपाल की अनुमति के बाद सत्र का आयोजन किया गया। फडणवीस ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के मंत्रियों का शपथ ग्रहण करना संवैधानिक मानदंडों के अनुरूप नहीं था। उन्होंने कहा कि भारत में कार्यवाहक अध्यक्ष को कभी नहीं बदला गया तो भाजपा के कोलम्बकर को पद से क्यों हटाया गया। 

फडणवीस के दावे पर वाल्से पाटिल ने कहा,राज्य मंत्रिमंडल को कार्यवाहक अध्यक्ष बदलने को ‘‘पूरा अधिकार’’ है। उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार विश्वास मत के लिए खुला मतदान होगा। अशोक चव्हाण ने विधानसभा में उद्धव ठाकरे नीत सरकार के लिए विश्वास मत पेश किया। महाराष्ट्र विधानसभा के कार्यवाहक अध्यक्ष के विश्वास मत पर गिनती करने का आदेश देने के बाद भाजपा विधायकों ने सदन से वॉकआउट किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।