Prabhasakshi NewsRoom। अमित शाह के क्षेत्र में अनुच्छेद 370 के नाम पर स्पोर्ट्स लीग शुरू करेगी भाजपा

Prabhasakshi NewsRoom। अमित शाह के क्षेत्र में अनुच्छेद 370 के नाम पर स्पोर्ट्स लीग शुरू करेगी भाजपा

भले ही अनुच्छेद 370 के हटे हुए लगभग ढाई साल हो गए लेकिन इसकी चर्चा अब भी खूब होती है। इन सबके बीच गुजरात के गांधीनगर में अनुच्छेद 370 के नाम पर ही स्पोर्ट्स लीग की शुरुआत की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2019 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म किया था। भाजपा हमेशा 370 के खिलाफ रही और आखिरकार 2019 में उसने इसे रद्द भी कर दिया। मोदी सरकार के सबसे बड़े फैसलों की जब-जब बात आएगी, तब-तब धारा 370 के रद्द किए जाने की भी चर्चा होगी। इस फैसले के लिए गृह मंत्री अमित शाह की भी खूब चर्चा होती है। भले ही अनुच्छेद 370 के हटे हुए लगभग ढाई साल हो गए लेकिन इसकी चर्चा अब भी खूब होती है। इन सबके बीच गुजरात के गांधीनगर में अनुच्छेद 370 के नाम पर ही स्पोर्ट्स लीग की शुरुआत की जा रही है। सबसे खास बात यह है कि इस लीग का आयोजन गृह मंत्री अमित शाह के संसदीय क्षेत्र गांधीनगर में किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: गुजरात सरकार ने राज्य में कोविड-19 से तीन लाख लोगों की मौत होने के राहुल गांधी के दावे को नकारा

बताया जा रहा है कि इस लीग में क्रिकेट और कबड्डी जैसे खेलों के महा मुकाबले रखे जाएंगे। सबसे खास बात यह है कि इस लीग का आयोजन भाजपा की ओर से करवाया जा रहा है। इसका पूरा नाम गांधीनगर लोक सभा प्रीमियर लीग 370 है। पार्टी ने इसके जरिए ज्यादा से ज्यादा युवाओं को अपने साथ जोड़ने का लक्ष्य रखा है। एक भाजपा नेता ने बताया कि इस लीग का नाम 370 इसलिए रखा गया है क्योंकि 2019 में अमित शाह के नेतृत्व में इसे रद्द किया गया था। यह टूर्नामेंट दिसंबर के मध्य में शुरू होगा।

इसे भी पढ़ें: Vibrant Gujarat: नवीकरणीय ऊर्जा और राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन पर होगा फोकस

क्रिकेट और कबड्डी के लिए हर वार्ड से 2 टीमों का चयन होगा। इसके तहत गांधीनगर की हर विधानसभा क्षेत्र को शामिल किया जाएगा इनमें वेजलपुर, घाटलोदिया, नरनपुरा, साबरमती, कलोल, गांधीनगर (उत्तर) और साणंद शामिल हैं। वर्तमान में फिलहाल इस संधि को सिर्फ पुरुषों के लिए ही तय किया गया है। क्रिकेट मैच टेबल टेनिस बॉल से खेला जाएगा। आपको बता दें कि अमित शाह का खेलों से पुराना नाता रहा है। 2007 से ही गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन से वह जुड़े रहे हैं। वह गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष पद पर रहे हैं। वर्तमान में उनके बेटे जय शाह बीसीसीआई के सचिव हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।