यमुना नदी में नाव डूबी: चार लोगों की मौत, 17 लापता

Yamuna
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
बांदा जिले के मरका क्षेत्र से फतेहपुर जिले के जरौली घाट जा रही एक नौका के बृहस्पतिवार को यमुना नदी में डूबने से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 17 अन्‍य लोग लापता हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया है।

बांदा (उत्तर प्रदेश), 12 अगस्त।  बांदा जिले के मरका क्षेत्र से फतेहपुर जिले के जरौली घाट जा रही एक नौका के बृहस्पतिवार को यमुना नदी में डूबने से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 17 अन्‍य लोग लापता हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया है। पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिनंदन ने बताया कि 30-35 लोगों से भरी एक नौका दोपहर बाद मरका थाना क्षेत्र के यमुना घाट से फतेहपुर जिले के जरौली घाट जा रही थी, तभी बीच जलधारा में हवा का झोंका आने से नौका डगमगा कर पलट गई।

अभिनंदन ने बताया कि अब तक चार लोगों के शव नदी से निकाले जा चुके हैं और उनकी शिनाख्‍त करने की कोशिश की जा रही है। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने बताया कि तेज हवाओं की वजह से नाव अनियंत्रित होकर पलट गई। उन्होंने बताया कि मृतकों में दो महिलाएं और एक बच्चा शामिल है। मृतकों की सटीक संख्या अभी पता नहीं चल पाई है। उन्होंने बताया कि 13 लोगों को बचा लिया गया है जबकि 17 लोग अब भी लापता हैं।

लापता लोगों की तलाश में लगे दलों की मदद के लिए रोशनी की व्यवस्था की गई है। इस बीच, मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन को तत्काल मौके पर पहुंचकर बचाव और राहत कार्य करने के निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने दुर्घटना में हुई जनहानि पर शोक व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। आदित्यनाथ ने जिलाधिकारी, पुलिस उपमहानिरीक्षक, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल के दलों को तत्काल मौके पर जाने के निर्देश दिए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़