भारत में बढ़ सकते हैं कैंसर के मामले, स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने लोकसभा में दी जानकारी

Dr Mansukh Mandaviya
ANI Image
भारत में कैंसर के मामलों में बढ़ोतरी हो सकती है। ये जानकारी संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने दी है। उन्होंने ये भी बताया कि भारत के कई अस्पतालों, केंद्रीय संस्थानों में कैंसर पीड़ित मरीज अपना इलाज करवा रहे है।

नयी दिल्ली। देश में 2020 में कैंसर के मामलों की अनुमानित संख्या 13,92,179 थी और इसमें 12.8 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने राष्ट्रीय कैंसर रजिस्ट्री कार्यक्रम के आंकड़ों के हवाले से शुक्रवार को लोकसभा में यह जानकारी दी। मांडविया ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि कैंसर रोगी जिला अस्पतालों, मेडिकल कॉलेज अस्पतालों, एम्स जैसे केंद्रीय संस्थानों तथा निजी अस्पतालों समेत अनेक स्वास्थ्य केंद्रों में उपचार करा रहे हैं। 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि इलाज के लिए पंजीकृत मरीजों से संबंधित आंकड़े संस्थानों और अस्पतालों द्वारा अपने स्तर पर बनाए रखे जाते हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आरोग्य निधि (आरएएन) के तहत, गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों के उन गरीब मरीजों को किसी भी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल/संस्थान या अन्य सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है, जो गंभीर जानलेवा बीमारियों से पीड़ित हैं। 

स्वास्थ्य मंत्री कैंसर रोगी निधि (आरएएन का एक घटक) के तहत 2022-23 में पांच दिसंबर, 2022 की स्थिति के अनुसार 40 लाभार्थियों के लिए 216.98 लाख रुपये का उपयोग किया गया। उन्होंने कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष में, 585.05 लाख रुपये का उपयोग 64 लाभार्थियों के लिए किया गया था, जबकि 2020-21 में 1,573 लाख रुपये का उपयोग 196 रोगियों के लिए तथा 2019-20 में2,677.08 लाख रुपये का उपयोग 470 रोगियों के लिए किया गया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़