कर्नाटक संगीत की महान विभूति पी बी पोनम्मल की 96 वर्ष की आयु में निधन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 22, 2021   20:19
कर्नाटक संगीत की महान विभूति पी बी पोनम्मल की 96 वर्ष की आयु में निधन

कर्नाटक संगीत की महान विभूति एवं पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित पारास्सला बी पोनम्मल का वलियासाला स्थित उनके आवास पर मंगलवार को निधन हो गया। उनके परिवार के सूत्रों ने इसकी जानकारी दी।

तिरूवनंतपुरम। कर्नाटक संगीत की महान विभूति एवं पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित पारास्सला बी पोनम्मल का वलियासाला स्थित उनके आवास पर मंगलवार को निधन हो गया। उनके परिवार के सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। परिवार के सूत्रों ने बताया कि वह 96 साल की थी और पिछले कुछ समय से उम्र संबंधी बीमारियों से पीड़ित थी। कर्नाटक संगीत में निपुण, पोनम्मल एक ऐसी संगीतकार थीं, जिन्होंने शास्त्रीय संगीत में लैंगिक रूढ़ियों को तोड़ा था और 1940 के दशक के दौरान यहां के ऐतिहासिक स्वाति थिरुनल कॉलेज ऑफ म्यूजिक में दाखिला लेने वाली पहली छात्रा बनीं।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मौर्य के आवास पर भोज में शामिल हुए योगी आदित्‍यनाथ

यहां के कोट्टनहिल बालिका विद्यालय में संगीत शिक्षक के तौर पर करियर शुरू करने से पहले उन्होंने वहां से गण भूषणम एवं गण प्रवीण का पाठ्यक्रम प्रथम श्रेणी के साथ पूरा किया था। पोनम्मल ने स्वाति थिरुनल कॉलेज की पहली महिला संकाय और प्रसिद्ध आरएलवी कॉलेज ऑफ म्यूजिक एंड फाइन आर्ट्स, त्रिपुनिथुरा की पहली महिला प्राचार्य बनकर इतिहास रचा।

इसे भी पढ़ें: प्रसिद्ध तेलुगु फिल्म निर्माता के साथ कोविड-19 टीके के नाम पर धोखाधड़ी, मामला दर्ज

आठ दशक की लंबी संगीत यात्रा के दौरान सैकड़ों संगीत कार्यक्रम आयोजित करने के अलावा, उन्होंने कुछ उत्कृष्ट संगीतकारों को अपना शिष्य बनाकर उन्हें संगीतकार के रूप में ढाला। पोनम्मल को 2017 मेंपद्मश्री से सम्मानित किया गया और इसके अलावा उन्होंने कई अन्य पुरस्कार जीते। इस महान संगीतकार के परिवार में दो बेटे डी महादेवन एवं डी सुब्रमनियन हैं। उनके पति देवनायकम अय्यर, एक बेटे और एक बेटी की मौत हो गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।