• निर्माण सामग्री की चोरी को लेकर असम पुलिस के खिलाफ मामला दर्ज किया गया: मिजोरम

मिजोरम सरकार ने रविवार को कहा कि उसने असम पुलिस के कर्मियों के खिलाफ दोनों पूर्वोत्तर राज्यों की सीमा के पास एक परियोजना स्थल से निर्माण सामग्री कथित रूप से चोरी करने का मामला दर्ज किया है।

आइजोल। मिजोरम सरकार ने रविवार को कहा कि उसने असम पुलिस के कर्मियों के खिलाफ दोनों पूर्वोत्तर राज्यों की सीमा के पास एक परियोजना स्थल से निर्माण सामग्री कथित रूप से चोरी करने का मामला दर्ज किया है। कोलासिब के उपायुक्त एच लालथलंगलियाना ने बताया कि असम पुलिस के कर्मियों ने कोलासिब जिले में बैराबी कस्बे के पास ज़ोफई में मिजोरम क्षेत्र में प्रवेश किया और पुल के निर्माण स्थल से सरिये सहित कुछ निर्माण सामग्री कथित रूप से चुरा ली।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश: छिंदवाड़ा में गुब्बारे में हवा भरने वाला गैस सिलेंडर फटा, दो लोगों की मौत

उन्होंने कहा कि घटना शुक्रवार की है जब धान के एक खेत को मुख्य सड़क से जोड़ने के लिए पुल बनाने का काम चल रहा था। इस क्षेत्र की सीमा असम के हैलाकांडी जिले से लगती है। उपायुक्त ने बताया कि पुल निर्माण एक सरकारी परियोजना है। उन्होंने कहा, “ उनके (असम पुलिस) के खिलाफ बैराबी थाने में निर्माण सामग्री की चोरी का मामला दर्ज किया गया है।” लालथलंगलियाना ने इस घटना को लेकर हैलाकांडी के उपायुक्त को शनिवार को पत्र लिखकर आवश्यक कार्रवाई करने का आग्रह किया था। पत्र में, लालथलंगलियाना ने कहा कि घटना या पुल निर्माण को सीमा के मुद्दे से नहीं जोड़ा जाना चाहिए क्योंकि इस पुल को सरकार द्वारा मिजोरम के क्षेत्र के भीतर एक सड़क को जोड़ने के लिए बनाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में सालाना अमरनाथ यात्रा ‘समापन पूजा’ के साथ हुई संपन्न

गौरतलब है कि बैराबी का ज़ोफई क्षेत्र मिजोरम और असम के बीच सीमा विवाद के प्रमुख बिंदुओं में से एक है। मार्च 2018 में मिजोरम के मिज़ो ज़िरलाई पावल (एमजेडपी) के पदाधिकारियों ने इलाके में लकड़ी के विश्राम गृह का निर्माण करने का प्रयास किया था तो हिंसा भड़क उठी थी। असम पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए कथित तौर पर लाठीचार्ज किया था और गोलियां चलाईं थी जिसमें मिजोरम के सात पत्रकारों सहित 60 से अधिक लोग घायल हो गए थे।