सीबीआई जांच ही एकमात्र विकल्प: राजे

CBI Investigation
उन्होंने आरोप लगाया कि इसके बावजूद कांग्रेस सरकार संघर्ष कर रहे छात्रों की सहायता के लिए कोई कदम नहीं उठा रही और राजस्थान सरकार परीक्षा संस्थाओं की विश्वसनीयता बनाए रखने में असफल रही है। उन्होंने कहा, ‘‘अब अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने के लिए सीबीआई जैसी सर्वोच्च जांच एजेंसी द्वारा जांच ही एकमात्र विकल्प है।’’

जयपुर| पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (रीट) 2021 पेपर लीक मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जैसी सर्वोच्च जांच एजेंसी से कराये जाने की मांग की है।

राजे ने शनिवार को यहां एक बयान में कहा कि परीक्षाओं की निष्पक्षता, पारदर्शिता एवं उनकी शुचिता हर संदेह से परे होनी चाहिए।

इसलिए यह बहुत ही चिंताजनक है कि जांच एजेंसियों ने रीट पेपर लीक मामले में शिक्षा संकुल (मुख्यालय) को ही संदेह के घेरे में ला खड़ा किया है। रीट प्रकारण में उजागर हुआ आपराधिक भ्रष्टाचार स्तब्ध कर देने वाला है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इसके बावजूद कांग्रेस सरकार संघर्ष कर रहे छात्रों की सहायता के लिए कोई कदम नहीं उठा रही और राजस्थान सरकार परीक्षा संस्थाओं की विश्वसनीयता बनाए रखने में असफल रही है। उन्होंने कहा, ‘‘अब अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने के लिए सीबीआई जैसी सर्वोच्च जांच एजेंसी द्वारा जांच ही एकमात्र विकल्प है।’’

उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार ने इस मामले में परीक्षा आयोजित करने वाले माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. धर्मपाल जारौली को बर्खास्त कर दिया है, जबकि बोर्ड सचिव अरविंद कुमार सेंगवा को निलंबित किया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़