Jammu and Kashmir में सीसीटीवी निगरानी से राष्ट्रविरोधी तत्वों को पकड़ने में मदद मिलेगी: डीजीपी

CCTV surveillance
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Common
सिंह ने सोमवार को कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में सीसीटीवी निगरानी प्रणाली स्थापित करने का मकसद केंद्र शासित प्रदेश के लोगों और यहां आने वालों को सुरक्षित माहौल देना है।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सीसीटीवी कैमरों से राष्ट्रविरोधी तत्वों की पहचान करने और उन्हें पकड़ने के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश में चौबिसों घंटे जमीनी स्तर पर निगरानी करने में मदद मिलेगी। सिंह ने सोमवार को कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में सीसीटीवी निगरानी प्रणाली स्थापित करने का मकसद केंद्र शासित प्रदेश के लोगों और यहां आने वालों को सुरक्षित माहौल देना है।’’ समूचे जम्मू-कश्मीर में सीसीटीवी निगरानी परियोजना के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि इससे लोगों का मनोबल बढ़ेगा।

इसे भी पढ़ें: BRS, AAP संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करेंगे

उन्होंने कहा, ‘‘ इस प्रणाली से हम जमीनी स्तर पर चौबिसों घंटे निगरानी रख पाएंगे।’’ उन्होंने कहा कि इसके जरिए हम लोगों को आगाह कर पाएंगे, जिससे केंद्र शासित प्रदेश में अपराध पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी और यह राष्ट्रविरोधी तत्वों व अपराधियों को पकड़ने में भी मददगार होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़