चरणजीत सिंह चन्नी ने ली पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ, राज्य को मिला पहला दलित मुख्यमंत्री

चरणजीत सिंह चन्नी ने ली पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ, राज्य को मिला पहला दलित मुख्यमंत्री

चरणजीत सिंह चन्नी रामदासिया समुदाय (सिख दलित) से आते हैं। चमकौर से तीसरी बार विधायक रहे चन्नी 2015-2016 तक पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता रह चुके हैं। राहुल के करीबी माने जाने वाले चन्नी 2007 में पहली बार चमकौर विधानसभा सीट से विधायक चुने गए थे।

पंजाब कांग्रेस में लंबे समय से चली आ रही तनातनी और अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद आज वरिष्ठ नेता चरणजीत सिंह चन्नी मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। उन्हें रविवार को विधायक दल की बैठक में नेता चुना गया था। वह पंजाब के पहले दलित नेता हैं जो मुख्यमंत्री बनेंगे।  चन्नी को राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहे। चन्नी के अलावा सुखजिन्दर सिंह रंधावा और ओपी सोनी ने भी मंत्री के तौर पर शपथ लिया। माना जा रहा है कि दोनों को उपमुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी दी जाएगी। 

इससे पहले रविवार को ही विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद चन्नी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेश प्रभारी हरीश रावत ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया था। चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र के विधायक चरणजीत सिंह चन्नी ने अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री थें। चरणजीत सिंह चन्नी रामदासिया समुदाय (सिख दलित) से आते हैं। चमकौर से तीसरी बार विधायक रहे चन्नी 2015-2016 तक पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता रह चुके हैं। राहुल के करीबी माने जाने वाले चन्नी 2007 में  पहली बार चमकौर विधानसभा सीट से  विधायक चुने गए थे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...