CM योगी बोले- उत्तर प्रदेश में अराजकता का कोई स्थान नहीं है

CM Yogi
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा अभी परसों रामनवमी की तिथि थी... 25 करोड़ आबादी उप्र में रहती है, 800 स्थानों पर रामनवमी की शोभायात्रा भी थी और जुलूस भी निकाले गए और साथ-साथ इस समय रमजान का महीना भी चल रहा है और रोजा इफ्तार के कार्यक्रम भी रहे होंगे, मगर कहीं भी कोई तू तू-मैं मैं नहीं हुई, दंगे फसाद की बात तो दूर है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि राज्य में अराजकता का कोई स्थान नहीं है और पिछले दिनों रामनवमी के जश्न के दौरान कहीं कोई विवाद की स्थिति पैदा नहीं हुई। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को यहां एक कार्यक्रम में कहा अभी परसों रामनवमी की तिथि थी... 25 करोड़ आबादी उप्र में रहती है, 800 स्थानों पर रामनवमी की शोभायात्रा भी थी और जुलूस भी निकाले गए और साथ-साथ इस समय रमजान का महीना भी चल रहा है और रोजा इफ्तार के कार्यक्रम भी रहे होंगे, मगर कहीं भी कोई तू तू-मैं मैं नहीं हुई, दंगे फसाद की बात तो दूर है। उन्होंने कहा इससे जाहिर होता है कि उत्तर प्रदेश में अब विकास की नई सोच पैदा हो गई है और अराजकता दंगों और अफवाहों का कोई स्थान नहीं है। रामनवमी पर उत्तर प्रदेश ने इसे साबित भी किया है।

योगी का यह बयान पिछले दिनों मध्यप्रदेश और गुजरात में रामनवमी के अवसर पर निकाले गए जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच हुई हिंसा की घटनाओं के मद्देनजर महत्वपूर्ण माना जा सकता है। मध्यप्रदेश के खरगौन में रामनवमी के जुलूस के दौरान कथित रूप से भड़काऊ हरकत होने के बाद जुलूस पर पथराव हुआ था, जिसके बाद वहां हिंसा फैल गई थी। इस मामले में अब तक करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसी तरह गुजरात के हिम्मतनगर कस्बे में भी गत रविवार को रामनवमी के जश्न के दौरान हिंसा हुई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़