कर्नाटक के विधि मंत्री की फोन बातचीत सामने आने के बाद सहयोगी मंत्री ने इस्तीफे की सलाह दी

Phone
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
कर्नाटक के विधि और संसदीय कार्य मंत्री जे सी मधुस्वामी के इस कथित बयान पर उनके कुछ कैबिनेट सहयोगियों ने भी आलोचना की है कि ‘‘सरकार काम नहीं कर रही, हम किसी तरह संभाल रहे हैं’’। मधुस्वामी और चन्नापटना के सामाजिक कार्यकर्ता भास्कर के बीच फोन पर हुई एक बातचीत शनिवार को सामने आई।

बेंगलुरु,16 अगस्त। कर्नाटक के विधि और संसदीय कार्य मंत्री जे सी मधुस्वामी के इस कथित बयान पर उनके कुछ कैबिनेट सहयोगियों ने भी आलोचना की है कि ‘‘सरकार काम नहीं कर रही, हम किसी तरह संभाल रहे हैं’’। मधुस्वामी और चन्नापटना के सामाजिक कार्यकर्ता भास्कर के बीच फोन पर हुई एक बातचीत शनिवार को सामने आई। मधुस्वामी को किसानों के संबंध में वीएसएसएन बैंक के खिलाफ भास्कर की शिकायतों के जवाब में फोन पर उनसे कहते सुना जा सकता है, ‘‘हम यहां सरकार नहीं चला रहे, हम बस किसी तरह संभाल रहे हैं और अगले 7-8 महीने तक किसी तरह खींचना है।’’

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए उद्यानिकी मंत्री मुनिरत्ना ने आज कोलार में कहा कि मधुस्वामी को इस तरह का बयान देने से पहले तत्काल मंत्रालय से इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘वह सरकार का हिस्सा हैं और मंत्रिमंडल में हर विषय पर भाग ले रहे हैं, इसलिए उनकी भी इसमें हिस्सेदारी है। जिम्मेदार पद पर रहते हुए इस तरह के बयान देना सही नहीं है, यह उनकी वरिष्ठता के लिए शोभा नहीं देता।’’ सहकारिता मंत्री एस टी सोमशेखर ने भी मधुस्वामी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर यह उनके विचार हैं तो यह गलत है।

उन्होंने कहा, ‘‘मधुस्वामी को अगर लगता है कि केवल वही बुद्धिमान व्यक्ति हैं तो उन्हें सबसे पहले अपने दिमाग से यह बात निकालनी होगी।’’ मधुस्वामी को सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत पर फोन पर अपनी ही सरकार के मंत्री सोमशेखर की कथित निष्क्रियता को लेकर असमर्थता जताते हुए सुना जा सकता है। मधुस्वामी को फोन पर कहते सुना गया, ‘‘मैं इन विषयों को जानता हूं। मैंने इस बात से एस टी सोमशेखर (सहकारिता मंत्री) को अवगत करा दिया है। वह कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। क्या करें?’’ इस बीच उच्च शिक्षा मंत्री सी एन अश्वथ नारायण ने कहा कि मधुस्वामी ने ये बयान नहीं दिये होंगे और किसी ने संशय पैदा करने के लिए ऐसा किया होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘यह सच नहीं हो सकता, आपको मधुस्वामी से बात कर स्थिति साफ करनी होगी। मधुस्वामी ऐसी बात कहें, असंभव है। हमारे विरोधियों में से कुछ षड्यंत्रकारियों की भ्रम पैदा करने की यह करतूत हो सकती है।’’ विपक्षी कांग्रेस ने ऑडियो लीक होने के बाद बसवराज बोम्मई नीत सरकार पर निशाना साधा है और इसे ‘नाकारा’ कहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़