कांग्रेस का 'लोकतंत्र बचाओ, संविधान बचाओ' अभियान, अब राजभवनों के सामने धरना देगी पार्टी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 25, 2020   21:40
कांग्रेस का 'लोकतंत्र बचाओ, संविधान बचाओ' अभियान, अब राजभवनों के सामने धरना देगी पार्टी

पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के मुताबिक, कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता भाजपा के इन ‘संविधान एवं लोकतंत्र विरोधी कदमों’ के खिलाफ राजभवनों के बाहर सोमवार को ‘लोकतंत्र बचाओ, संविधान बचाओ’ अभियान के तहत धरना देंगे।

नयी दिल्ली। राजस्थान की सियासी उठापठक के बीच कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि भाजपा के ‘संविधान एवं लोकतंत्र विरोधी कदमों’ के खिलाफ वह 27 जुलाई को सभी प्रदेशों के राजभवनों के सामने धरना देगी। पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान में यह भी बताया कि कांग्रेस रविवार को सोशल मीडिया के विभिन्न मंचों पर ‘स्पीक अप फॉर डेमोक्रेसी’ अभियान चलाएगी। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘संविधान और लोकतांत्रिक व्यवस्था की बुनियाद पर भाजपा द्वारा हमला किया जा रहा है। भाजपा धन बल का इस्तेमाल करने के साथ साथ संवैधानिक संस्थाओं का भी दुरुपयोग कर रही है। खरीद-फरोख्त के दम पर लोकतांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकारों को गिराना आज सामान्य बात हो चुकी है।’’ 

इसे भी पढ़ें: विधायक दल की बैठक में बोले अशोक गहलोत, जरूरत पड़ी तो राष्ट्रपति भवन तक जाएंगे 

उन्होंने दावा किया कि कोविड-19 महामारी के समय भी राजस्थान में भाजपा की तरफ से सरकार गिराने का ‘गंदा खेल’ खेला जा रहा है। वेणुगोपाल के मुताबिक, कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता भाजपा के इन ‘संविधान एवं लोकतंत्र विरोधी कदमों’ के खिलाफ राजभवनों के बाहर सोमवार को ‘लोकतंत्र बचाओ, संविधान बचाओ’ अभियान के तहत धरना देंगे। उन्होंने कहा कि रविवार को सोशल मीडिया में ‘स्पीक अप फॉर डेमोक्रेसी’ अभियान चलाया जाएगा जिसके तहत पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता वीडियो पोस्ट कर अपनी बात रखेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।