तुमकुर सीट JDS को देने के फैसले से कांग्रेस की पकड़ कम नहीं होगी: परमेश्वर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 14 2019 12:36PM
तुमकुर सीट JDS को देने के फैसले से कांग्रेस की पकड़ कम नहीं होगी: परमेश्वर
Image Source: Google

कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा कि तुमकुर सीट देवेगौड़ा को देने के फैसले से वहां कांग्रेस का आधार कम नहीं होगा।

तुमकुर। कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा कि तुमकुर लोकसभा सीट गठबंधन सहयोगी जद(एस) को देने के कांग्रेस के फैसले से इस निर्वाचन क्षेत्र में पार्टी की पकड़ कम नहीं होगी और उनका असली मकसद राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनते देखना है। पूर्व प्रधानमंत्री और जद(एस) सुप्रीमो एच डी देवगौड़ा तुमकुर में पूर्व सांसद जी एस बासवराजू को चुनौती देंगे। परमेश्वर ने यहां कोलाला गांव में एक चुनावी कार्यक्रम से इतर पीटीआई-भाषा को दिए साक्षात्कार में कहा कि तुमकुर सीट देवेगौड़ा को देने के फैसले से वहां कांग्रेस का आधार कम नहीं होगा। हमारा असली मकसद राहुल गांधी को भारत का प्रधानमंत्री बनते देखना है।

इसे भी पढ़ें: मोदी दोबारा PM बने तो आंबेडकर के लिखे संविधान को बर्बाद कर देंगे: देवेगौड़ा

उन्होंने कहा कि देवेगौड़ा ने भी गांधी को प्रधानमंत्री बनते देखने की इच्छा जताई है। गौरतलब है कि परमेश्वर और अन्य स्थानीय नेता मौजूदा सांसद एम गौड़ा को यह सीट देने से इनकार करने को लेकर नाराज हो गए थे। एम गौड़ा ने माना कि पहले जद(एस) को यह सीट देने पर शुरुआत में थोड़ी नाराजगी थी लेकिन बाद में गांधी और केंद्रीय नेतृत्व से मिलने के बाद उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन वापस ले लिया। उन्होंने कहा कि मैंने दिल्ली में राहुल गांधी और अन्य नेताओं से मुलाकात की। गांधी ने तुमकुर क्षेत्र से बागी उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन वापस लेने के लिए कहा। युवा नेता ने मुझे कहा कि भारत और उसकी सुरक्षा तथा उसकी खैरियत के लिए आपको यह करना होगा। मैंने तुरंत अपना नामांकन वापस लेने और देवेगौड़ा की मदद करना शुरू कर दिया।

इसे भी पढ़ें: देवेगौड़ा का मोदी पर आरोप, बोले- हिन्दू राष्ट्र बनाने की कर रहे हैं कोशिश



तुमकुर सीट से कांग्रेस और भाजपा के उम्मीदवार दस तथा चार बार जीते हैं। यह 1952 से 1989 तक पार्टी का गढ़ रहा जब तक वह भाजपा से हारी नहीं। जी एस बासवपुर भाजपा के उम्मीदवार हैं। वह कांग्रेस के टिकट पर तीन बार जीते थे और एक बार भाजपा के उम्मीदवार बने। उन्हें 2014 के चुनावों में एम गौड़ा ने हराया था।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video