'तुष्टीकरण की राजनीति कर रही कांग्रेस', राम मंदिर का जिक्र कर अमित शाह ने पूछा- आज विरोध का कार्यक्रम क्यों?

amit shah
ANI
अंकित सिंह । Aug 05, 2022 6:47PM
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने विरोध के लिए इस दिन को चुना और काले कपड़े पहने क्योंकि वे अपनी तुष्टिकरण की राजनीति को और बढ़ावा देने के लिए एक सूक्ष्म संदेश देना चाहती हैं क्योंकि इसी दिन पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि की नींव रखी थी।

बेरोजगारी, महंगाई और जांच एजेंसियों के दुरुपयोग को लेकर कांग्रेस ने आज देश भर में विरोध प्रदर्शन किया। इन सबके बीच कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन पर गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है। अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि आज तो कोई प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ नहीं की। फिर कांग्रेस ने विरोध प्रदर्शन क्यों किया है? इसके साथ ही अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने तुष्टिकरण की राजनीति को आगे बढ़ाया। उन्होंने आज के दिन हुए विरोध प्रदर्शन पर भी सवाल उठाया। अमित शाह ने कहा कि आज ही के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने आज का विरोध इसीलिए किया है क्योंकि वह एक संदेश देना चाहते थी कि हम राम मंदिर का विरोध करते हैं और इसलिए हम काले कपड़े पहनकर पहुंचे हुए हैं। कांग्रेस ने छिपे तौर पर राम मंदिर का विरोध किया है। कांग्रेस नेताओं ने जानबूझकर काले कपड़े पहने।

इसे भी पढ़ें: महंगाई, जीएसटी, बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का आंदोलन, नाना पटोले बोले- हम संघर्ष करते रहेंगे

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ही के दिन 5 अगस्त 2020 को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था। अपने बयान में अमित शाह ने कहा कि एक के जिम्मेदार दल होने के नाते पूछताछ में कांग्रेस को सहयोग करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को बरकरार रखना सब की जिम्मेदारी है। आपको बता दें कि आज कांग्रेस की ओर से जबरदस्त तरीके से कई मुद्दों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया था। कांग्रेस के सभी नेताओं ने काले कपड़े पहन रखे थे। संसद से सड़क तक कांग्रेस का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल जारी था। कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं को हिरासत में भी लिया गया था। हालांकि बाद में इन वरिष्ठ नेताओं को छोड़ दिया गया है। इससे पहले कांग्रेस ने जब राहुल गांधी और सोनिया गांधी से ईडी ने पूछताछ की थी। उस समय भी राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया था। 

इसे भी पढ़ें: शनिवार को उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए होगी वोटिंग, एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ का पलड़ा भारी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने विरोध के लिए इस दिन को चुना और काले कपड़े पहने क्योंकि वे अपनी तुष्टिकरण की राजनीति को और बढ़ावा देने के लिए एक सूक्ष्म संदेश देना चाहती हैं क्योंकि इसी दिन पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि की नींव रखी थी। दूसरी ओर कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि नेताओं को दिनभर बंद रखा गया, हम सदन में चर्चा करना चाहते हैं। सरकार से महंगाई का जवाब चाहते हैं। सरकार की जवाबदेही तय कर, उन्हें कठघरे में खड़ा करना हमारी ज़िम्मेदारी है। जिस तरह अलोकतांत्रिक तरीके से लोगों को हिरासत में लिया गया यह अच्छा संकेत नहीं है। छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस कमेटी ने फैसला लिया है कि वे सभी प्रदेशों में महंगाई के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। आज देश की जनता महंगाई की मार से त्राहि-त्राहि कर रही है। पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस, दूध, खाने का तेल सब महंगा हो रहा है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़