कांग्रेस को जनता की याद तभी आती जब चुनाव आते हैं : स्वामी प्रसाद मौर्य

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 13, 2021   09:40
कांग्रेस को जनता की याद तभी आती जब चुनाव आते हैं : स्वामी प्रसाद मौर्य

उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने रविवार को प्रियंका गांधी वाद्रा के उत्तर प्रदेश दौरे पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस को जनता की याद तभी आती जब चुनाव आते हैं। यहां एक निजी कार्यक्रम में आए मौर्य ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, कांग्रेस को जनता की याद तभी आती है जब चुनाव आते हैं।

भदोही (उप्र)। उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने रविवार को प्रियंका गांधी वाद्रा के उत्तर प्रदेश दौरे पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस को जनता की याद तभी आती जब चुनाव आते हैं। यहां एक निजी कार्यक्रम में आए मौर्य ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, कांग्रेस को जनता की याद तभी आती है जब चुनाव आते हैं। उन्होंने प्रियंका के रायबरेली दौरे पर कहा, साढ़े चार साल तक वह ट्विटर पर राजनीति करती रहीं और अब जनता की याद आई है क्योंकि चुनाव सामने है।

इसे भी पढ़ें: न जनता के मुद्दों की समझ न सरोकार, बस हवाई दावों की सरकार, योगी सरकार पर प्रियंका का वार

गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव एवं उत्तर प्रदेश मामलों की पार्टी प्रभारी प्रियंका बृहस्पतिवार से राज्य के दौरे पर हैं और रविवार को वह अपनी मां व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली पहुंचीं। मौर्य ने मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के मामले को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती पर भी तंज किया।

इसे भी पढ़ें: सिद्धू ने CM अमरिंदर सिंह को लिखा पत्र, किसानों की मांगों पर काम करने का आग्रह किया

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि बहन मायावती की सोच कमाल की है कि पहले वह माफिया को टिकट देती हैं, फिर पार्टी से निकालती हैं और फिर वापस ले लेती हैं। उन्‍होंने कहा कि यह कोई पहली बार नहीं है कि उन्होंने मुख्तार अंसारी का टिकट काट दिया और वह अंसारी को फिर वापस लेंगी। श्रम मंत्री ने कहा कि मायावती ने अगर सच में किसी माफिया या अपराधी को टिकट नहीं देने का फैसला किया है तो ऐसा लगता है कि उन्हें सद्बुद्धि आ गई है और उनका यह कदम स्वागत योग्य है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।