सिब्बल के बयान से नाराज कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, टीएस सिंह देव बोले- सोनिया गांधी ले रही हैं निर्णय

सिब्बल के बयान से नाराज कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, टीएस सिंह देव बोले- सोनिया गांधी ले रही हैं निर्णय

वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने बुधवार को कांग्रेस की अंतर्कलह पर उठाए गए सवालों के बाद उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं का विरोध सहना पड़ा। उनके आवास के बाहर नाराज पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इसी बीच छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने भी कपिल सिब्बल पर निशाना साधा।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जी23 में शामिल कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी आलाकमान पर इशारों ही इशारों में तंज कसा। जिसके बाद उनके आवास के बाहर भारी तादाद में दिल्ली कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस दौरान 'गेट बेल सून कपिल सिब्बल' नामक पोस्टर के साथ कार्यकर्ता दिखाई दिए। 

इसे भी पढ़ें: दुर्भाग्य है कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं, सिब्बल बोले- लोग छोड़कर जा रहे हैं पार्टी, CWC बैठक जल्द बुलाई जाए 

नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने बुधवार को कांग्रेस की अंतर्कलह पर उठाए गए सवालों के बाद उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं का विरोध सहना पड़ा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विरोध प्रदर्शन कर रहे एक कार्यकर्ता ने कहा कि क्या आपने कभी कार्यकर्ताओं की भावना को जाना है ?

अन्य कार्यकर्ता ने कहा कि कांग्रेस ने सिब्बल साहब को क्या नहीं दिया ? उन्हें मंत्री बनाया, कई बार राज्यसभा भेजा गया। वो सुधार की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि भाजपा की दलाली कर रहे हैं। राहुल और प्रियंका गांधी की बात को वह अमित शाह तक पहुंचाते हैं।

गुमराह कर रहे हैं कपिल सिब्बल ?

वहीं छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि कपिल सिब्बल गुमराह कर रहे हैं। सोनिया गांधी जी पार्टी में निर्णय ले रही हैं। दुर्भाग्यपूर्ण है कि कपिल सिब्बल जैसे अनुभवी व्यक्ति को यह नहीं पता कि फैसले लिए जा रहे हैं। जो कांग्रेस की विचारधारा के लिए प्रतिबद्ध हैं, वो लोग कभी पार्टी नहीं छोड़ेंगे।  

इसे भी पढ़ें: दुर्भाग्य है कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं, सिब्बल बोले- लोग छोड़कर जा रहे हैं पार्टी, CWC बैठक जल्द बुलाई जाए 

क्या बुलाई जाएगी CWC की बैठक

कपिल सिब्बल ने कहा कि कहा कि कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक बुलाकर कांग्रेस की मौजूदा स्थिति पर चर्चा होनी चाहिए और संगठनात्मक चुनाव कराए जाने चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं निजी तौर पर बात कर रहा रहा हूं और उन साथियों की तरफ बोल रहा हूं जिन्होंने पिछले साल अगस्त में पत्र लिखा था। हम अपने नेतत्व की ओर से अध्यक्ष का चुनाव, सीडब्ल्यूसी और केंद्रीय चुनाव समिति के चुनाव कराने से जुड़े कदम उठाए जाने का इंतजार कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।