दुर्भाग्य है कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं, सिब्बल बोले- लोग छोड़कर जा रहे हैं पार्टी, CWC बैठक जल्द बुलाई जाए

दुर्भाग्य है कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं, सिब्बल बोले- लोग छोड़कर जा रहे हैं पार्टी, CWC बैठक जल्द बुलाई जाए

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि पंजाब के हालात से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और आईएसआई को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती राज्य में ऐसे हालात ठीक नहीं हैं। हम पंजाब के इतिहास और वहां उग्रवाद के उदय को जानते हैं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल युवाओं के लगातार पार्टी को छोड़ने से चिंतित हैं और उन्होंने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि मैं आपसे (मीडिया) उन कांग्रेसियों की ओर से बोल रहा हूं जिन्होंने पिछले साल अगस्त में पत्र लिखा था और कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) और राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के संबंध में हमारे नेतृत्व द्वारा की जाने वाली कार्रवाई की प्रतीक्षा कर रहे हैं।  

इसे भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस पर बरसे केजरीवाल, बोले- इन लोगों ने सरकार को बना दिया तमाशा, दागियों को तुरंत हटाएं चन्नी 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि पंजाब के हालात से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और आईएसआई को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती राज्य में ऐसे हालात ठीक नहीं हैं। हम पंजाब के इतिहास और वहां उग्रवाद के उदय को जानते हैं... कांग्रेस को सुनिश्चित करना चाहिए कि वे एकजुट रहें। इसी बीच उन्होंने महात्मा गांधी का भी जिक्र किया।

कांग्रेस छोड़ रहे युवा साथी  

ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद, सुष्मिता देव समेत इत्यादि लोगों ने कांग्रेस को छोड़कर दूसरी पार्टियां ज्वाइन कर ली हैं। इस संबंध में कपिल सिब्बल ने कहा कि लोग पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। ऐसे में खुद पर सवाल है।  

इसे भी पढ़ें: सपा, बसपा और कांग्रेस पर बरसे योगी आदित्यनाथ, कहा- विकास उन सब का एजेंडा नहीं 

वहीं कपिल सिब्बल ने आलाकमान को लेकर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी में कोई अध्यक्ष नहीं है इसलिए हमें नहीं पता कि ये निर्णय कौन ले रहा है ? हम जानते हैं और नहीं भी। उन्होंने आगे कहा कि हम (जी-23 के नेता) वे नहीं हैं जो पार्टी छोड़कर कहीं और जाएंगे। यह विडंबना है। जो उनके करीब थे, वे चले गए और जिन्हें वे अपने करीब नहीं मानते, वे अब भी उनके साथ खड़े हैं।

बुनियादी तौर पर संगठन को करें मजबूत 

उन्होंने कहा कि हम समझते हैं कि कांग्रेस को कमजोर होता देख नहीं सकते हैं। हम कितने समय से इंतजार कर रहे हैं और इंतजार करने की भी तो हद होती है।  हम तो उन लोगों में से हैं जो कांग्रेस के साथ हमेशा खड़े रहेंगे। हमने कभी कांग्रेस के खिलाफ बयान नहीं दिया और आज भी नहीं दिया। हमने सिर्फ इतना कहा कि हम आपके साथ हैं, पार्टी को बुनियादी तौर से मजबूत कीजिए, लोगों की बात सुनिए।

इसी बीच पंजाब में मचे घमासान पर उन्होंने कहा कि हमने पंजाब की घटना पर आजतक कुछ नहीं कहा। हममें से किसी ने कोई टिप्पणी नहीं की। हमारी वजह से तो वहां पर कुछ नहीं हो रहा। वहीं सिद्धू से जुड़े सवाल पर उन्होंने चुप्पी साध ली और कहा कि इस बात पर चर्चा सीडब्ल्यूसी पर होनी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: केरल अंतर्कलह को समाप्त करने के लिए होंगे बड़े बदलाव, राहुल के दौरे के बाद फेरबदल की संभावना 

वहीं राहुल के खिलाफ होने के सवाल पर कपिल सिब्बल ने कहा कि कोई भी पार्टी का कार्यकर्ता किसी के खिलाफ हो ही नहीं सकता। ऐसे में यह सवाल उचित नहीं है। हम किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...