दिल्ली में बेकाबू हुआ कोरोना, 24 घंटे में 3200 नए केस, एक मरीज की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 2, 2022   19:15
दिल्ली में बेकाबू हुआ कोरोना,  24 घंटे में 3200 नए केस, एक मरीज की मौत

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्रवाई योजना के तहत, यदि संक्रमण दर लगातार दो दिन पांच प्रतिशत से अधिक रहता है तो ‘रेड’ अलर्ट जारी किया जा सकता है, जिसके चलते ‘पूर्ण कर्फ्यू’ लगाया जा सकता है और ज्यादातर आर्थिक गतिविधियां थम सकती हैं।

नयी दिल्ली। दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 3,194 नये मामले सामने आए, जो पिछले साल 20 मई के बाद से एक दिन की सर्वाधिक संख्या है। महामारी से एक मरीज की भी मौत हुई है, जबकि संक्रमण दर बढ़ कर 4.59 प्रतिशत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्रवाई योजना के तहत, यदि संक्रमण दर लगातार दो दिन पांच प्रतिशत से अधिक रहता है तो ‘रेड’ अलर्ट जारी किया जा सकता है, जिसके चलते ‘पूर्ण कर्फ्यू’ लगाया जा सकता है और ज्यादातर आर्थिक गतिविधियां थम सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: बीबीसी ने कहा- वैक्सीनेशन के टार्गेट से पीछे रह गयी भारत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया करारा जवाब

रविवार को कोविड-19 के मामले एक दिन पहले के 2,716 मामले से 17 प्रतिशत अधिक हैं। दिल्ली में पिछले साल 20 मई को 5.50 संक्रमण दर के साथ 3,231 मामले सामने आए थे। उस दिन 233 संक्रमितों की मौत हुई थी। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को और बृहस्पतिवार को क्रमश: 1,796 और 1,313 मामले सामने आए थे, जबकि संक्रमण दर क्रमश: 1.73 और 2.44 प्रतिशत रही थी। शहर में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मामलों में वृद्धि होने के बीच नये मामलों में अत्यधिक वृद्धि हुई है। शहर में महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़ कर 25,109 हो गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।