पुलवामा का आतंकी हमला अप्रत्याशित, देश चाहता है कार्रवाई: नीतीश कुमार

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 16 2019 6:55PM
पुलवामा का आतंकी हमला अप्रत्याशित, देश चाहता है कार्रवाई: नीतीश कुमार
Image Source: Google

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह अप्रत्याशित घटना है। इस पर प्रतिक्रिया देना अनिवार्य है। इसकी प्रकृति और प्रचंडता पर फैसला किया जाना है। देश का मौजूदा मिजाज सख्त कार्रवाई की मांग करता है।

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि पुलवामा में हुआ आतंकी हमला अप्रत्याशित था और देश का मिजाज इस वक्त सख्त कार्रवाई का है। कुमार यहां हवाई अड्डे पर पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रहे थे, जहां सीआरपीएफ के तीन शहीद कर्मियों को ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया गया। इन शहीदों में से दो बिहार के हैं और एक झारखंड का है। मुख्मयंत्री ने कहा कि यह अप्रत्याशित घटना है। इस पर प्रतिक्रिया देना अनिवार्य है। इसकी प्रकृति और प्रचंडता पर फैसला किया जाना है। देश का मौजूदा मिजाज सख्त कार्रवाई की मांग करता है।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: पुलवामा हमले में CRPF के शहीद जवान कुलविंदर का हुआ अंतिम संस्कार

ग्रामीण पटना के मसरुही के रहने वाले संजय कुमार सिन्हा और और भागलपुर के रत्न कुमार ठाकुर के अलावा झारखंड के गुमला के विजय सोरेंग की पार्थिव देह को एक विशेष विमान से लाया गया। शहीद जवानों को श्रद्धाजंलि देने के लिए हवाई अड्डे पर मुख्यमंत्री के अलावा, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव मौजूद थे। कुमार ने यह भी कहा, ‘दुनिया यह जानती है कि पाकिस्तान आतंकवादी संगठनों को सहायता एवं सहयोग देता है। आतंकवादी अपने कृत्यों से दुनिया को तबाह करने पर अमादा लगते हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। हमारे राज्य के दो जवानों ने अपनी जान गंवाई है जबकि एक जवान जख्मी हुआ है।’



इसे भी पढ़ें: कश्मीर में 3 साल पहले हुआ था जैश-ए-मोहम्मद के खात्मे का दावा

उन्होंने कहा कि शोकसंतप्त परिवार के सदस्यों को हर मुमकिन सहायता दी जाएगी। आम तौर पर शहीद सुरक्षा कर्मी के (परिवार को) दी जाने वाली अनुग्रह राशि के अलावा राज्य सरकार उनके बच्चों की शिक्षा और शादी का खर्च वहन करेगी। एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि राज्य सरकार की नीति के तहत सीआरपीएफ कर्मी के नजदीकी रिश्तेदार को 11 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के अलावा मुख्यमंत्री राहत कोष से 25-25 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। इस बीच, सोरेंग की पार्थिव देह को हेलीकॉप्टर के जरिए उनके पैतृक स्थान ले जाया गया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video