अदालत ने प्रकाशन कंपनी को यस बैंक के पूर्व सीईओ पर लिखी किताब बेचने, वितरित करने से रोका

Judiciary
अतिरिक्त जिला न्यायाधीश राजेश कुमार ने ऑलमाइटी टेक फिल्म्स को भी कपूर से बिना पूर्व सहमति के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संबंध या संदर्भ वाली किसी भी फिल्म को रिलीज और मार्केटिंग करने से रोक दिया। कपूर को बैंक में कथित घोटाले से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया गया था। कपूर ने दावा किया कि पुस्तक ‘‘मानहानिकारक’’ है।

नयी दिल्ली| दिल्ली की एक अदालत ने प्रकाशन कंपनी पेंगुइन रैंडम हाउस को मामले में सुनवाई की अगली तारीख तक ‘‘द बैंकर हू क्रश्ड हिज डायमंड्स: द यस बैंक स्टोरी’’ शीर्षक से यस बैंक के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राणा कपूर पर लिखी किताब को बेचने और वितरित करने से रोक दिया है।

अतिरिक्त जिला न्यायाधीश राजेश कुमार ने ऑलमाइटी टेक फिल्म्स को भी कपूर से बिना पूर्व सहमति के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संबंध या संदर्भ वाली किसी भी फिल्म को रिलीज और मार्केटिंग करने से रोक दिया। कपूर को बैंक में कथित घोटाले से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया गया था। कपूर ने दावा किया कि पुस्तक ‘‘मानहानिकारक’’ है।

उन्होंने अपने वकीलों विजय अग्रवाल, नमन जोशी और रिदम अग्रवाल के माध्यम से अदालत का रुख किया और फुरकान मोहरकन द्वारा लिखित और पेंगुइन द्वारा प्रकाशित पुस्तक की आलोचना की।

उन्होंने यह भी कहा कि जोधपुर स्थित ऑलमाइटी टेक फिल्म्स द्वारा किताब पर एक फिल्म बनाई जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़