मृत लड़की के शव को तंत्र-मंत्र के जरिए किया जा रहा था जिंदा, 5 दिनों से घर में कर रखा था बंद

witchcraft
Unsplash
निधि अविनाश । Jun 30, 2022 4:53PM
पुलिस के मुताबिक, रिपोर्ट आने के बाद लड़की की मौत का खुलासा होगा। बताया जा रहा है कि, लड़की की तबीयत 1 महीने से खराब चल रही थी और 24 जून को उसकी मौत हो गई। परिजनों को शक था कि उनकी बेटी की मौत भूत-आत्मा की वजह से हुई।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज से बड़ी ही हैरान कर देने वाला मामला समाने आ रहा है जहां एक मृत लड़की को तंत्र-मंत्र और जादू-टोना के जरिए जिंदा करने की कोशिश की जा रही थी। जब लाश को ज्यादा समय हो गया तो उसमें से बदबू आने लगी जिसके बाद आस-पास के लोगों ने पुलिस को इसकी खबर दी। जब पुलिस ने जांच की तो पता चला की शव 5 दिनों से घर में छिपाकर रखा गया था और लाश को जिंदा करने के लिए तंत्र-मंत्र किए जा रहे थे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आस-पास के लोगों ने पुलिस को बताया कि नाबालिग की तबीयत काफी दिनों से खराब चल रही थी और परिवार वाले उसे गंगाजल पिलाकर औऱ तंत्र-मंत्र से जिंदा करने की कोशिश कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें: 'अपनी सुरक्षा को लेकर कन्हैयालाल का परिवार चिंतित', बेटा यश बोला- मेरे CM गहलोत से हुई बात, सरकारी नौकरी का मिला आश्वासन

यह हैरान कर देने वाला मामला डीहा गांव का है जहां अभय राज यादव की 18 साल की बेटी अंतिमा यादव की मृत्य 5 दिन पहले रहस्यमयी तरीके से हुई। परिजनों ने बेटी का अंतिम संस्कार नहीं कराया और उसे जिंदा करने के लिए तंत्र-मंत्र करने लगे। परिजनों का मानना था कि माता रानी आएगी और उनकी बेटी को जिंदा कर देगी। शव से जब बदबू आने लगी तो आसपास के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और मौके पर पहुंची। परिजनों ने दरवाजा खोलने से मना किया लेकिन जब पुलिस ने घर का दरवाजा खोला तो लाश बिल्कुल सड़ गई थी और बहुत बदबू आ रही थी। ग्रामीओं ने पुलिस को बताया कि परिवार मानसिक रोगी जैसी हरकते करते रहते है और हमेशा झाड़फूंक भी करते है। पुलिस ने लड़की की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इसे भी पढ़ें: उदयपुर में दर्जी की हत्या के विरोध में जयपुर के अधिकतर बाजार रहे बंद

पुलिस के मुताबिक, रिपोर्ट आने के बाद लड़की की मौत का खुलासा होगा। बताया जा रहा है कि, लड़की की तबीयत 1 महीने से खराब चल रही थी और 24 जून को उसकी मौत हो गई। परिजनों को शक था कि उनकी बेटी की मौत भूत-आत्मा की वजह से हुई। इन्हीं कारणों से तंत्र-मंत्र कर लड़की को जिंदा करने की कोशिश की जा रही थी। पुलिस ने परिवार के 11 सदस्यों को अस्पताल में एडमिट कराया है। पुलिस ने बताया कि सभी मानसिक रूप से बहुत ज्यादा बीमार है और कोई भी ठीक से खाना नहीं खा रहे थे। सभी लोग पानी के नाम पर केवल गंगाजल ही पी रहे थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़