'अपनी सुरक्षा को लेकर कन्हैयालाल का परिवार चिंतित', बेटा यश बोला- मेरे CM गहलोत से हुई बात, सरकारी नौकरी का मिला आश्वासन

Yash
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
उदयपुर घटना में मारे गए दर्जी कन्हैयालाल के बेटे यश ने बताया कि मेरी मुख्यमंत्री जी से बात हुई है और उन्होंने आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी देने की बात कही है। वह हमारे साथ सहयोग कर रहे हैं और हम भी सहयोग करने के लिए तैयार हैं। हमने उनसे खुद की सुरक्षा की भी मांग की है।

जयपुर। उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की घटना को लेकर आक्रोश बना हुआ है। ऐसे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कन्हैयालाल के परिवार से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री रामलाल जाट सहित पार्टी के कई अन्य नेता और पुलिस महानिदेशक एम. एल. राठौड़ मौजूद रहे। दरअसल, मुख्यमंत्री गहलोत ने कन्हैयालाल के परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों से बातचीत की। 

इसे भी पढ़ें: उदयपुर में दर्जी की हत्या के विरोध में जयपुर के अधिकतर बाजार रहे बंद 

दोषियों को मिले फांसी

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उदयपुर घटना में मारे गए दर्जी कन्हैयालाल के बेटे यश ने बताया कि मेरी मुख्यमंत्री जी से बात हुई है और उन्होंने आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी देने की बात कही है। वह हमारे साथ सहयोग कर रहे हैं और हम भी सहयोग करने के लिए तैयार हैं। हमने उनसे खुद की सुरक्षा की भी मांग की है। जिन लोगों ने उनके साथ ऐसा किया उनको फांसी की सज़ा मिलनी ही चाहिए यही हमारी मांग है।

क्या बोले CM गहलोत ?

कन्हैयालाल के परिवार वालों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि हमारी पुलिस ने अच्छा काम किया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के अंतरराष्ट्रीय लिंक मिले हैं, इसलिए एनआईए सामने आई... हम इस मामले को फास्ट ट्रैक के माध्यम से लेने की अपील करेंगे। हम चाहते हैं कि एनआईए समयबद्ध हो और दोषियों को एक महीने के भीतर सजा दे। हम उनका सहयोग करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: कन्हैया लाल के घर पहुंचे अशोक गहलोत, पीड़ित परिवार को सौंपा 51 लाख का चेक 

गौरतलब है कि दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने मंगलवार को चाकू से हत्या कर की और फिर उन्होंने इस नृशंस हत्या का वीडियो बाद में सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच अब एनआईए कर रहा है और राजस्थान पुलिस का आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) जांच में मदद कर रहा है। इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश तक में प्रदर्शन हो रहे हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़