दिल्ली में बढ़ने लगा मौत का आंकड़ा, 11486 कोरोना के नए मामले, मुंबई में 3568 केस

दिल्ली में बढ़ने लगा मौत का आंकड़ा, 11486 कोरोना के नए मामले, मुंबई में 3568 केस

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 45 लोगों की जान गई है। 5 जून के बाद 1 दिन में यह सबसे ज्यादा मौत का आंकड़ा है। 5 जून को 48 लोगों की मौत हुई थी। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 14802 लोग स्वस्थ हो गए जबकि संक्रमण दर 16.36% है। सक्रिय मामलों की संख्या फिलहाल 58593 है।

देश में कोरोना वायरस अपने चरम पर है। कोरोना वायरस की तीसरी लहर में मामलों की संख्या लगातार बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। हालांकि राहत की बात यह है कि मौत के आंकड़े कम आ रहे हैं। इन सबके बीच दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर का कहर दिखाई दे रहा है। यहां मौत के आंकड़े डराने लगे हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 45 लोगों की जान गई है। 5 जून के बाद 1 दिन में यह सबसे ज्यादा मौत का आंकड़ा है। 5 जून को 48 लोगों की मौत हुई थी। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 14802 लोग स्वस्थ हो गए जबकि संक्रमण दर 16.36% है। सक्रिय मामलों की संख्या फिलहाल 58593 है।

देश के दूसरे महानगर की बात करें तो मुंबई में कोरोना वायरस की रफ्तार में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पिछले 24 घंटे में 3568 कोरोना वायरस के नए मामले आए हैं जो कि कल के मुकाबले काफी कम है। हालांकि पिछले 24 घंटे में मुंबई में 10 लोगों की मौत भी हुई है। फिलहाल वहां सक्रिय मामलों की संख्या 17497 है। भले ही मुंबई में कोरोना वायरस के मामलों में कमी आई है लेकिन महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। पुणे में भी कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

इसे भी पढ़ें: चुनाव आयोग की बैठक में फैसला, रोड शो और रैली पर अभी भी जारी रहेगी पाबंदी

दिल्ली सरकार ने कोविड-19 मामलों के लिए एसओपी तय किया

राज्यों को बहुत कम समय में आंकड़े देने वाली प्रयोगशालाएं तथा जिलों और विधानसभा क्षेत्रों के आधार पर कोरोना वायरस के मरीजों को पृथक करना दिल्ली सरकार द्वारा तय मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का हिस्सा हैं। पिछले सप्ताह जारी एक आदेश में, स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि उसने कोविड-देखभाल केंद्रों के लिए एसओपी तैयार किए हैं, जिसमें रोगियों की टेलीकॉलिंग से संबंधित दिशानिर्देशों पर अमल भी शामिल है। एसओपी के तहत प्रयोगशालाओं को 20 घंटे के भीतर राज्य कोविड-19 प्रतिक्रिया केंद्र को वास्तविक समय आधारित आंकड़े उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। उन्हें कोरोना के मामलों को जिला, विधानसभा क्षेत्र और वार्ड आदि के आधार पर पृथक करने को भी कहा गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।