अशोक गहलोत की मांग, चुनावी बॉन्ड को तुरंत खत्म करे मोदी सरकार

Ashok Gehlot
प्रधानमंत्री मोदी ने वादा किया था कि वह कालाधन खत्म करेंगे लेकिन ना तो वो विदेश से कालाधन ला सके और ना ही नोटबंदी से कालाधन कम हुआ।
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनावी बॉन्ड को देश में काले धन को बढ़ावा देने वाला करार देते हुए शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत केंद्र सरकार इसे तत्काल खत्म करे। गहलोत ने इस संबंध में कई ट्वीट करते हुए कहा, ‘‘चुनाव आयोग, रिजर्व बैंक और विपक्षी पार्टियों के विरोध के बावजूद मोदी सरकार कालेधन को सफेद करने के लिए चुनावी बॉन्ड लेकर आई। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रिजर्व बैंक गवर्नर ने साफ कहा था कि इलेक्टोरल बॉन्ड से मनी लॉन्ड्रिंग को बढ़ावा मिल सकता है।’’ गहलोत ने ट्वीट में कहा कि 2017-18 में इलेक्टोरल बॉन्ड का 95 फीसदी चंदा भाजपा को ही मिला। उन्होंने कहा, ‘‘2019 में चुनाव आयोग ने उच्चतम न्यायालय में कहा था कि चुनावी बॉन्ड पार्टियों को मिलने वाले चंदे की पारदर्शिता को खत्म कर देगा लेकिन अब आयोग का रुख नरम हो गया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार को अविलंब कालेधन को बढ़ा रहे चुनावी बॉन्ड को खत्म करना चाहिए। सिर्फ इससे ही काम नहीं चलेगा। उच्चतम न्यायालय को चुनावी बॉन्ड पर दायर याचिका को एक तार्किक निष्कर्ष तक ले जाकर एक ऐसा तरीका बनाना चाहिए जिससे राजनीतिक पार्टियों की वित्तपोषण में पारदर्शिता आए।’’ गहलोत ने कहा,‘‘ प्रधानमंत्री मोदी ने वादा किया था कि वह कालाधन खत्म करेंगे लेकिन ना तो वो विदेश से कालाधन ला सके और ना ही नोटबंदी से कालाधन कम हुआ।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़