जनसुनवाई के दौरान अधिकारी के सामने ग्रामीण ने खाया जहर, कलेक्टर ने कहा - नॉन इशू को इशू न बनाएं

जनसुनवाई के दौरान अधिकारी के सामने ग्रामीण ने खाया जहर, कलेक्टर ने कहा - नॉन इशू को इशू न बनाएं

मंगलवार को धार कलेक्टर डॉ. पंकज जैन जनसुनवाई कर रहे थे। एडीएम सलोनी सिडाना के सामने ग्रामीण छोटेलाल प्रजापति भी बैठा था। आवेदक ग्रामीण ने एडीएम को आवेदन देते हुए बताया कि सरपंच ने उसकी 30 बाई 50 जमीन पर कब्जा कर लिया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के धार जिले में जनसुनवाई में एक ग्रामीण ने कलेक्टर के सामने जहर खा लिया। बताया जा रहा है कि ग्रामीण के जमीन पर सरपंच ने कब्जा कर रखा है। उसे लेकर ग्रामीण कई बार अधिकारियों से कार्रवाई को लेकर फरियाद लगा चुका है। लेकिन कार्रवाई नहीं होने से नाराज होकर मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान ग्रामीण ने जहर खा लिया। हालांकि ग्रामीण की हालत खतरे से बाहर है।

इसे भी पढ़ें:भक्ति और अंधविश्वास की मोह माया, जीभ काट कर माता के दरबार में पहुंची महिला 

आपको बता दें कि मंगलवार को धार कलेक्टर डॉ. पंकज जैन जनसुनवाई कर रहे थे। एडीएम सलोनी सिडाना के सामने ग्रामीण छोटेलाल प्रजापति भी बैठा था। आवेदक ग्रामीण ने एडीएम को आवेदन देते हुए बताया कि सरपंच ने उसकी 30 बाई 50 जमीन पर कब्जा कर लिया है। जनसुनवाई में उसकी बात नहीं सुनी गई। इससे नाराज होकर सबके सामने जहरीला पदार्थ खा लिया।

वहीं ग्रामीण का आरोप है कि कार्रवाई की मांग को लेकर कई बार अधिकारियों से फरियाद लगा चुका हूं। इसके बाद भी तिवडी गांव के दबंग सरपंच के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। ग्रामीण को धार जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। फिलहाल ग्रामीण की हालत ठीक है।

इसे भी पढ़ें:MP बड़े बिजली संकट से जूझ रहा है, मंत्री सड़क पर भैस घुमा रहे है 

दरअसल जिस बोतल को ग्रामीण लाया था उसे पुलिस को जांच के लिए भेज दी है। वहीं जानकारी के मुताबिक घटना के बाद कलेक्टर ने मीडियाकर्मियों के कैमरे को बंद करवा दिया था। कलेक्टर ने कहा कि नॉन इशू को इशू मत बनाओ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।