मेरठ में पुलिस कर्मियों का पोस्टल बैलेट से मतदान नहीं कराने पर प्रशासन से चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

मेरठ में पुलिस कर्मियों का पोस्टल बैलेट से मतदान नहीं कराने पर प्रशासन से चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

मेरठ में इस बार विधानसभा चुनाव में 4209 में से मात्र नौ पुलिसकर्मी ही कर पाए पोस्टल बैलेट से मतदान। मुरादाबाद पीएसी में भी नहीं पहुंचे पोस्टल बैलेट। आयोग ने जवाब तलब कर लिया है।

मेरठ में पुलिस कर्मियों का पोस्टल बैलेट से मतदान न कराने पर चुनाव आयोग ने जिला प्रशासन का जवाब तलब किया है। सपा प्रदेश अध्यक्ष की शिकायत तथा एडीजी कानून व्यवस्था की रिपोर्ट पर आयोग ने इस पर आपत्ति जताई है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जिला प्रशासन से तत्काल रिपोर्ट मांगी है। वहीं मुरादाबाद पीएसी में भी 48 कर्मियों,अधिकारियों के लिए पोस्टल बैलेट प्राप्त न होने की शिकायत मिली है।

सपा प्रदेश अध्यक्ष और एमएलसी नरेश उत्तम पटेल ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि मेरठ में पुलिस कर्मियों का पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान नहीं कराया गया है। वहीं पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था ने 14 फरवरी तक की रिपोर्ट आयोग को उपलब्ध कराई है। जिसमें कहा है कि मेरठ में 4202 पुलिस कर्मियों का मतदान कराया जाना था। जिसमें से 3006 कर्मियों के फार्म 12 संबंधित विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी के पास जमा करा दिए गए थे। लेकिन पोस्टल बैलेट केवल 9 को मिला और वे ही मतदान कर पाए। अन्य लोग मतदान से वंचित रह गए। आयोग के निर्देश पर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जिला प्रशासन से जवाब मांगा है।

23वी वाहिनी पीएसी मुरादाबाद की सेनानायक शालिनी ने भी जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र भेजकर बताया है कि मेरठ निवासी अधिकारियों कर्मचारियों के लिए पोस्टल बैलेट की मांग की गई थी। सिवालखास विधानसभा क्षेत्र के लिए 48 कर्मचारी अधिकारियों के फार्म 12 निर्वाचन अधिकारी को उपलब्ध कराकर पोस्टल बैलेट पेपर की मांग की गई थी। लेकिन पीएसी में एक भी पोस्टल बैलेट नहीं पहुंचा। उन्होंने समय रहते पोस्टल बैलेट उपलब्ध कराने की मांग की है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।