• मध्य प्रदेश में बिगड़ सकती है बिजली व्यवस्था, ये रहेगा कारण

सुयश भट्ट Sep 20, 2021 10:53

आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारियों ने कहा है कि वो पिछले महीने ही हड़ताल पर जाने वाले थे लेकिन ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने आश्वासन दिया था।

भोपाल। मध्य प्रदेश के लगभग 45 हजार आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारियों ने 27 सितंबर को हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। बिजली कर्मचारी हड़ताल पर जाते है तो प्रदेश में बिजली व्यवस्था गड़बड़ा सकती है।

इसे भी पढ़ें:बीजेपी ने मध्य प्रदेश राज्यसभा चुनाव के लिए घोषित किया अपना उम्मीदवार 

आउटसोर्सिंग कर्मचारियों ने ऊर्जा मंत्री के आश्वासन के बाद भी समस्या का हल नहीं होने के खिलाफ हड़ताल पर जाने की एलान किया है।

आपको बता दें कि आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारियों ने कहा है कि वो पिछले महीने ही हड़ताल पर जाने वाले थे लेकिन ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने आश्वासन दिया था। उन्होंने कहा था कि एक महीने अंदर कर्मचारियों की मांगों को पूरा कर दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:मध्य प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल पर कर रही है बड़ा आयोजन, ये रहेंगे कार्यक्रम 

लेकिन मंत्री के आश्वासन के बाद भी मांगें पूरी नहीं हुई। जिसके बाद भोपाल के नीलम पार्क में आउटसोर्स बिजली कर्मचारियों की बैठक हुई। बैठक में तय हुआ है कि अगर 23 सितंबर तक मांगें पूरी नहीं होती है तो 27 सितंबर का आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे।

दरअसल प्रदेश में आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारियों की संख्या लगभग 45 हजार के करीब है। और अगर ये कर्मचारी हड़ताल पर जाते है तो बिजली व्यवस्था ठप हो सकती है। क्योंकि फिल्ड पर यही कर्मचारी काम करते हैं ।

इसे भी पढ़ें:सरकारी स्कूल में पढ़ाई की जगह चल रही थी आटा चक्की, शिक्षक निलंबित 

इसके अलावा कहीं तार टूट जाता है तो आउटसोर्सिंग बिजली कर्मचारी उसे सुधार का कार्य करते हैं। वहीं मीटिर रीडिंग और राजस्व वसूली की जिम्मा भी इन्हीं बिजली कर्मचारियों के कंधे पर रहता हैं।