Jammu Kashmir Encounter | सुरक्षा बलों और आतंकी के बीच मुठभेड़, पुलवामा में अल-बद्र से जुड़े दो आतंकवादी ढेर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   09:03
Jammu Kashmir Encounter |  सुरक्षा बलों और आतंकी के बीच मुठभेड़, पुलवामा में अल-बद्र से जुड़े दो आतंकवादी ढेर
ani

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों के साथ रातभर चली मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया सूचना मिलने पर बुधवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में घेराबंदी करके तलाश अभियान चलाया।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों के साथ रातभर चली मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया सूचना मिलने पर बुधवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में घेराबंदी करके तलाश अभियान चलाया। उसी दौरान वहां छिपे आतंकवादियों ने जवानों पर गोलियां चलाई, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। अधिकारी ने बताया कि कुछ देर गोलीबारी के बाद अभियान को आम नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए रोक दिया गया।

इसे भी पढ़ें: बंगाल सरकार ने ईंधन सब्सिडी पर तीन साल में 1,500 करोड़ रुपये खर्च किए : ममता बनर्जी

उन्होंने बताया कि आम नागरिकों को निकालने के बाद मुठभेड़ फिर से शुरू हुई और बुधवार रात एक आतंकवादी मारा गया, जबकि एक सैनिक घायल हो गया। अधिकारी के अनुसार, रातभर चली मुठभेड़ में एक और आतंकवादी मारा गया। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि ये दोनों, आतंकवादी संगठन अल बद्र से जुड़े थे।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री के तौर पर शहबाज़ शरीफ पहली विदेश यात्रा पर 28 अप्रैल को सऊदी अरब जाएंगे

कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘दोनों आतंकवादियों की पहचान स्थानीय आतंकवादी एजाज हाफिज और शाहिद अयूब के तौर पर की गयी है। ये अल बद्र से जुड़े थे और उनके पास से दो रायफल बरामद हुई हैं। ये मार्च-अप्रैल 2022 में पुलवामा में अन्य राज्यों के कामगारों पर हुए कई हमलों में शामिल थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।