वरिष्ठ आदिवासी नेता हीरा सिंह मरकाम का 79 वर्ष की उम्र में निधन

Hira Singh Markam
कुलदीप सिंह ने बताया कि पार्टी की स्थापना के बाद से ही हीरा सिंह मरकाम उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। कुछ समय पहले ही उन्होंने अपने बड़े बेटे तुलेश्वर सिंह मरकाम को अपना कार्यभार सौंपा था।

कोरबा। छत्तीसगढ़ में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के संस्थापक और पूर्व विधायक हीरा सिंह मरकाम का निधन हो गया है। वह 79 वर्ष के थे। पार्टी की छत्तीसगढ़ इकाई के उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह मरकाम ने बुधवार को बताया कि हीरा सिंह मरकाम पिछले कुछ समय से बीमार थे तथा उन्हें बिलासपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

इसे भी पढ़ें: गुजराती अभिनेता नरेश कनोडिया का 77 वर्ष की आयु में निधन, PM मोदी ने जताया दुख 

उपाध्यक्ष के अनुसार उन्होंने बुधवार शाम छह बजे अंतिम सांस ली। उनके परिवार में पत्नी और दो पुत्र हैं। मध्य छत्तीसगढ़ के प्रमुख आदिवासी नेता हीरा सिंह मरकाम अविभाजित मध्यप्रदेश के तानाखार विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर पहली बार वर्ष 1985 में विधायक चुने गए थे। बाद में वर्ष 1991 में उन्होंने गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के नाम से नई पार्टी का गठन कर लिया था। वह कोरबा जिले के तानाखार विधानसभा से वर्ष 1996 और 1998 में विधायक चुने गए। 

इसे भी पढ़ें: तेलंगाना के पहले गृहमंत्री नरसिम्हा रेड्डी का निधन, मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया 

कुलदीप सिंह ने बताया कि पार्टी की स्थापना के बाद से ही हीरा सिंह मरकाम उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। कुछ समय पहले ही उन्होंने अपने बड़े बेटे तुलेश्वर सिंह मरकाम को अपना कार्यभार सौंपा था। उन्होंने बताया कि हीरा सिंह मरकाम का अंतिम संस्कार बृहस्पतिवार को उनके पैतृक ग्राम कोरबा जिले के तिवरता गांव में किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वरिष्ठ आदिवासी नेता हीरा सिंह मरकाम के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने मरकाम के शोकसंतप्त परिवारजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़