पूर्व मंत्री दंडोतिया बोले, बीजेपी अगर चपरासी भी बनाएगी तो बनने को तैयार हूं

पूर्व मंत्री दंडोतिया बोले, बीजेपी अगर चपरासी भी बनाएगी तो बनने को तैयार हूं

निगम मंडलों में अध्यक्ष पदों पर जल्द ही नियुक्तियां की जा सकती हैं। इसके बीच गिर्राज दंडोतिया ने कहा है कि बीजेपी जो भी जिम्मेदारी देगी हम तैयार हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी अगर हमे चपरासी भी बनाएगी तो हम बनने के लिए तैयार हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार जल्द ही निगम मंडलों की नियुक्ति होने वाली है। उपचुनाव से पहले संभवत यह नियुक्तियां हो जाएंगी। जिसको लेकर अब नेताओं के नाम के कयास लगना शुरू हो गए हैं।

इसे भी पढ़ें:राहुल के होते हुए हमें कुछ करने की जरूरत नहीं, CM शिवराज बोले- बनी-बनाई पंजाब सरकार को निपटा दिया 

उधर निगम मंडलो की नियुक्ति को लेकर भोपाल में पूर्व मंत्री गिर्राज दंडोतिया के एक बयान ने राजनीतिक सरगर्मी को हवा दे दी है। दरअसल निगम मंडलों में अध्यक्ष पदों पर जल्द ही नियुक्तियां की जा सकती हैं। इसके बीच गिर्राज दंडोतिया ने कहा है कि बीजेपी जो भी जिम्मेदारी देगी हम तैयार हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी अगर हमे चपरासी भी बनाएगी तो हम बनने के लिए तैयार हैं।

आपको बता दें कि निगम मंडलों में जिन नेताओं को जगह मिल सकती है, उनके संभावितों में पूर्व मंत्री गिर्राज दंडोतिया का नाम भी शामिल है। ऐसे में पूर्व मंत्री के उक्त बयान को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है। आपको बता दें कि गिर्राज दंडोतिया पहले कांग्रेस में थे और कमलनाथ सरकार को गिराने में उनकी अहम भूमिका थी।

इसे भी पढ़ें:मंत्री भूपेंद्र सिंह को बीजेपी ने आलाकमान ने दुबारा सौपी उपचुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी 

साल 1997 में मध्य प्रदेश युवा सचिव पद से राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले गिर्राज सिंह दंडोतिया कांग्रेस का हिस्सा रहे थे। साल 2001 में युवा कांग्रेस जिला मुरैना के अध्यक्ष बनाए गए। 2008 में कांग्रेस से चुनाव लड़कर तीसरे स्थान पर रहे थे।

साल 2018 में पहली बार कांग्रेस से ही दिमनी सीट पर विधानसभा चुनाव जीतकर विधायक बने। फिर मार्च में कांग्रेस छोड़ बीजेपी की सदस्यता ली और इसके साथ ही प्रदेश सरकार में किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री बनाए गए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...