गहलोत ने कोरोना को लेकर PM मोदी से की बात, दवाइयां व ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की अपील की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2021   16:58
गहलोत ने कोरोना को लेकर PM मोदी से की बात,  दवाइयां व ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की अपील की

गहलोत ने कहा कि बिना टैंकर के गैस तो राज्यों तकनहीं पहुंचेगी। उल्लेखनीय है कि गहलोत ने इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी फोन पर बात कर उन्हें राज्य की परिस्थितियों की जानकारी दी।

जयपुर। कोरोना वायरस संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात कर रोगियों के हिसाब से राज्य को दवाइयां व ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की अपील की। इसके साथ ही गहलोत ने मोदी को सुझाव दिया कि केंद्र सरकार ऑक्सीजन परिवहन करने वाले टैंकरों का भी अधिग्रहण करे ताकि राज्यों को ऑक्सीजन के साथ टैंकर भी मिलें और उनकी की शिकायत खत्म हो जाए। मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि गहलोत ने प्रधानमंत्री मोदी से टेलीफोन पर बात की है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया कि राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या ज्यादा है इसलिए हमें दवाइयां और ऑक्सीजन भी उसके हिसाब से मिलनी चाहिए।

गहलोत ने मोदी से कहा कि रोगियों की बढ़ती संख्या और इन संसाधनों की कमी से राजस्थान में भी लोग परेशान होने लगे हैं। इसके साथ ही गहलोत ने प्रधानमंत्री मोदी को सुझाव दिया कि केंद्र सरकार ने जिस प्रकार पूरे देश के ऑक्सीजन प्लांट का अधिग्रहण किया है और राज्यों को गैस का कोटा आवंटित कर रही है उसी तरहदेश में गैस परिवहन करने वाले जितने टैंकर हैं उनका भी अधिग्रहण करें और राज्यों को गैस के कोटे के साथ टैंकर भी आवंटित करें ताकिउनकी शिकायत दूर हो। गहलोत ने कहा कि बिना टैंकर के गैस तो राज्यों तकनहीं पहुंचेगी। उल्लेखनीय है कि गहलोत ने इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी फोन पर बात कर उन्हें राज्य की परिस्थितियों की जानकारी दी। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।