कांग्रेस को तोड़ने की साजिश में लगे हैं आजाद, गांधी परिवार के साथ गद्दारी की: कुलदीप बिश्नोई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   14:42
  • Like
कांग्रेस को तोड़ने की साजिश में लगे हैं आजाद, गांधी परिवार के साथ गद्दारी की: कुलदीप बिश्नोई

हरियाण प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बिश्नोई ने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट कर कहा, ‘‘आजाद साहब का बयान सुना जिससे बहुत हैरानी हुई, दुख हुआ और गुस्सा भी आया। इतना वरिष्ठ नेता सार्वजनिक रूप से इस तरह का बयान दे, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है।’’

नयी दिल्ली। कांग्रेस की मौजूदा स्थिति पर पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के हालिया सार्वजनिक बयानों की पृष्ठभूमि में कांग्रेस कार्य समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य कुलदीप बिश्नोई ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष विरोधी दलों के साथ मिलकर कांग्रेस को तोड़ने की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने आजाद पर गांधी परिवार के साथ ‘गद्दारी करने’ का भी आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता उनके इस ‘षड्यंत्र’ सफल नहीं होने देंगे। हरियाण प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बिश्नोई ने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट कर कहा, ‘‘आजाद साहब का बयान सुना जिससे बहुत हैरानी हुई, दुख हुआ और गुस्सा भी आया। इतना वरिष्ठ नेता सार्वजनिक रूप से इस तरह का बयान दे, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है।’’ 

इसे भी पढ़ें: आलोचनाओं का सामना कर रही केरल सरकार ने विवादित संशोधित कानून पर लगाई रोक 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘आजाद साहब कहते हैं कि पार्टी में नीचे से लेकर ऊपर तक चुनाव होना चाहिए। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि जब उन्हें जम्मू-कश्मीर युवा कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था तो उस वक्त उन्होंने चुनाव की बात क्यों नहीं की? जिस वक्त उन्हें भारतीय युवा कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया तो उस वक्त चुनाव बात क्यों नहीं की?’’ बिश्नोई ने आरोप लगाया, ‘‘आजाद साहब, आज आप सिर्फ पार्टी को तोड़ने की साजिश विपक्षी दलों के साथ मिलकर कर रहे हैं। हम आपके इस षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने दंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आपका का क्या इतिहास है? आप पूरे जीवन में सिर्फ तीन चुनाव जीते हैं। जिस गांधी परिवार ने आपको पांच बार राज्यसभा के लिए मनोनीत किया, आप उस परिवार के खिलाफ बात करते हैं। आपसे ज्यादा चुनाव मैंने जीते हैं। मैंने छह चुनाव जीते हैं।’’

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के पुत्र बिश्नोई ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में आपको (आजाद) कोई नहीं पूछता और आप यहां नसीहत देते हैं। आपको हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले प्रभारी बनाया गया, आपने बेड़ा गर्क करके रख दिया। अगर आपके बजाय कोई और प्रभारी होता तो आज हरियाणा प्रदेश के अंदर कांग्रेस की सरकार होती।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप गांधी परिवार के खिलाफ गद्दारी करते हैं। इंदिरा जी और राजीव जी ने देश के लिए जान दी। सोनिया जी ने कांग्रेस को मजबूत करने के लिए अध्यक्ष पद को स्वीकार किया। आज राहुल जी कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पूरे देश में घूम कर रहे हैं। प्रियंका गांधी भी पार्टी को मजबूत करने में लगी हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने साधा मुख्यमंत्री पर निशाना, कहा कांग्रेस को छोड़ कोरोना की चिंता करें 

बिश्नोई ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘हम पूर्ण रूप से गांधी परिवार के साथ खड़े हैं। अगर राहुल जी और प्रियंका जी हैं तभी कांग्रेस पार्टी है। मेरी कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील है कि आप मेहनत करें। हम दोबारा कांग्रेस का स्वर्णिम युग लाएंगे।’’ गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आजाद ने रविवार को कहा कि कांग्रेस के नेता आम लोगों से पूरी तरह से कटे हुए हैं और पार्टी में ‘‘पांच सितारा संस्कृति’’ घर कर गई है। उन्होंने संगठनात्मक ढांचे में आमूल चूल परिवर्तन का आह्वान किया। बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद उनका यह बयान आया है। इस चुनाव में पार्टी ने 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिनमें से वह केवल 19 सीटों पर जीत दर्ज कर पाई। आजाद ने कहा कि ब्लॉक से लेकर जिला और राज्य स्तर तक चुनाव कराकर पार्टी के ढांचे में आमूल-चूल परिवर्तन की तत्काल जरूरत है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को कम से कम चुनावों के दौरान पांच सितारा संस्कृति को छोड़ देना चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


CWC बैठक: चुनाव कार्यक्रम बढ़ा आगे, अब जून के आखिरी तक कांग्रेस को मिल जाएगा अध्यक्ष

  •  अनुराग गुप्ता
  •  जनवरी 22, 2021   15:57
  • Like
CWC बैठक: चुनाव कार्यक्रम बढ़ा आगे, अब जून के आखिरी तक कांग्रेस को मिल जाएगा अध्यक्ष

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है और जून के आखिरी तक कांग्रेस को नया अध्यक्ष मिल जाएगा।

नयी दिल्ली। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न हुई। जिसमें तीन प्रस्ताव पर कार्यसमिति ने अपनी मुहर लगा दी है। बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रेस वार्ता में बताया कि संगठन चुनाव को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति ने मई के आखिरी तक कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव करने का प्रस्ताव रखा था।  

इसे भी पढ़ें: CWC की बैठक: कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव मई में कराने की संभावना 

सुरजेवाला ने आगे बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्यों ने एकमत से अपने विचार रखते हुए कहा कि पांच राज्यों में जो चुनाव होने हैं उनकी प्रक्रिया चल रही होगी और मई मतदान हो रहे होंगे। इसीलिए एक महीने आगे तक कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को बढ़ा दिया जाए। इसके लिए सदस्यों ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी से अनुरोध किया।

सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है और जून के आखिरी तक कांग्रेस को नया अध्यक्ष मिल जाएगा। वहीं, कांग्रेस संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल ने बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति ने किसानों के साथ मजबूती से खड़े रहने का निर्णय किया। इसे लेकर हमने प्रस्ताव पास किया है। कार्यसमिति ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए ऊपर से नीचे के स्तर तक की कार्ययोजना तैयार की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


CWC ने की मांग, अर्णब के व्हाट्सएप चैट को लेकर की जाए जेपीसी जांच

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   15:49
  • Like
CWC ने की मांग, अर्णब के व्हाट्सएप चैट को लेकर की जाए जेपीसी जांच

सीडब्ल्यूसी ने कहा कि व्हाट्सएप बातचीत मामले की जेपीसी जांच की जाए।सीडब्ल्यूसी की बैठक में व्हाट्सएप बातचीत मामले, कृषि कानूनों और कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के मुद्दों को लेकर तीन अलग अलग प्रस्ताव पारित किए गए।

नयी दिल्ली।कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की कथित व्हाट्सएप बातचीत को राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करार दिया और कहा कि इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराई जानी चाहिए। सीडब्ल्यूसी की बैठक में व्हाट्सएप बातचीत मामले, कृषि कानूनों और कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण के मुद्दों को लेकर तीन अलग अलग प्रस्ताव पारित किए गए। कांग्रेस कार्य समिति ने सरकार से तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने और कोरोना वायरस के टीके लगवा रहे स्वास्थ्यकर्मियों की चिंताओं को दूर करने के लिए आवश्यक उपाय करने और ‘मुनाफाखोरी’ रोकने का आग्रह किया।

इसे भी पढ़ें: देश में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल परिवारवाद से ग्रस्‍त: जेपी नड्डा

व्हाट्सएप बातचीत मामले का उल्लेख करते हुए प्रस्ताव में कहा गया है, ‘‘सरकारी गोपनीयता अधिनियम का उल्लंघन हुआ है तथा राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ भी किया गया है। हम इसकी जेपीसी से जांच कराने की मांग करते हैं। जो लोग भी राजद्रोह के दोषी हैं, उन्हें कानून की जद में लाया जाना चाहिए और सजा दी जानी चाहिए।’’ कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि संसद के आगामी सत्र में पार्टी समान विचारधारा वाले दलों के साथ मिलकर ‘किसान विरोधी कानूनों’ का विरोध करेगी और सरकार पर दबाव बनाएगी कि वह इन कानूनों को निरस्त करे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


अचानक बिगड़ी लालू यादव की तबीयत, सांस लेने में हो रही दिक्कत

  •  अंकित सिंह
  •  जनवरी 22, 2021   15:45
  • Like
अचानक बिगड़ी लालू यादव की तबीयत, सांस लेने में हो रही दिक्कत

लालू प्रसाद डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदयरोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। रांची के डॉक्टर लगातार दिल्ली के डॉक्टरों के संपर्क में है।

गुरुवार शाम राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक बिगड़ गई। लालू यादव फिलहाल चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता हैं। बताया जा रहा है कि उन्हें अचानक सांस लेने में दिक्कत होने लगी। फिलहाल उनकी तबीयत स्थिर है और डॉक्टरों की गहन निगरानी में हैं। इस खबर के साथ ही लालू परिवार में बेचैनी बढ़ गई। लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव, पत्नी राबड़ी देवी और मीसा भारती भी रांची पहुंच रहे हैं।

आनन-फानन में लालू प्रसाद यादव की कोरोना टेस्ट करवाई गई जो कि नेगेटिव आई है। सूत्रों के मुताबिक लालू प्रसाद डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदयरोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। रांची के डॉक्टर लगातार दिल्ली के डॉक्टरों के संपर्क में है। खबर आने के साथ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उनका हाल जानने अस्पताल पहुंचे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept