• कांग्रेस को तोड़ने की साजिश में लगे हैं आजाद, गांधी परिवार के साथ गद्दारी की: कुलदीप बिश्नोई

हरियाण प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बिश्नोई ने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट कर कहा, ‘‘आजाद साहब का बयान सुना जिससे बहुत हैरानी हुई, दुख हुआ और गुस्सा भी आया। इतना वरिष्ठ नेता सार्वजनिक रूप से इस तरह का बयान दे, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है।’’

नयी दिल्ली। कांग्रेस की मौजूदा स्थिति पर पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के हालिया सार्वजनिक बयानों की पृष्ठभूमि में कांग्रेस कार्य समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य कुलदीप बिश्नोई ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष विरोधी दलों के साथ मिलकर कांग्रेस को तोड़ने की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने आजाद पर गांधी परिवार के साथ ‘गद्दारी करने’ का भी आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता उनके इस ‘षड्यंत्र’ सफल नहीं होने देंगे। हरियाण प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बिश्नोई ने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट कर कहा, ‘‘आजाद साहब का बयान सुना जिससे बहुत हैरानी हुई, दुख हुआ और गुस्सा भी आया। इतना वरिष्ठ नेता सार्वजनिक रूप से इस तरह का बयान दे, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है।’’ 

इसे भी पढ़ें: आलोचनाओं का सामना कर रही केरल सरकार ने विवादित संशोधित कानून पर लगाई रोक 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘आजाद साहब कहते हैं कि पार्टी में नीचे से लेकर ऊपर तक चुनाव होना चाहिए। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि जब उन्हें जम्मू-कश्मीर युवा कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था तो उस वक्त उन्होंने चुनाव की बात क्यों नहीं की? जिस वक्त उन्हें भारतीय युवा कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया तो उस वक्त चुनाव बात क्यों नहीं की?’’ बिश्नोई ने आरोप लगाया, ‘‘आजाद साहब, आज आप सिर्फ पार्टी को तोड़ने की साजिश विपक्षी दलों के साथ मिलकर कर रहे हैं। हम आपके इस षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने दंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आपका का क्या इतिहास है? आप पूरे जीवन में सिर्फ तीन चुनाव जीते हैं। जिस गांधी परिवार ने आपको पांच बार राज्यसभा के लिए मनोनीत किया, आप उस परिवार के खिलाफ बात करते हैं। आपसे ज्यादा चुनाव मैंने जीते हैं। मैंने छह चुनाव जीते हैं।’’

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के पुत्र बिश्नोई ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में आपको (आजाद) कोई नहीं पूछता और आप यहां नसीहत देते हैं। आपको हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले प्रभारी बनाया गया, आपने बेड़ा गर्क करके रख दिया। अगर आपके बजाय कोई और प्रभारी होता तो आज हरियाणा प्रदेश के अंदर कांग्रेस की सरकार होती।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप गांधी परिवार के खिलाफ गद्दारी करते हैं। इंदिरा जी और राजीव जी ने देश के लिए जान दी। सोनिया जी ने कांग्रेस को मजबूत करने के लिए अध्यक्ष पद को स्वीकार किया। आज राहुल जी कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पूरे देश में घूम कर रहे हैं। प्रियंका गांधी भी पार्टी को मजबूत करने में लगी हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने साधा मुख्यमंत्री पर निशाना, कहा कांग्रेस को छोड़ कोरोना की चिंता करें 

बिश्नोई ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘हम पूर्ण रूप से गांधी परिवार के साथ खड़े हैं। अगर राहुल जी और प्रियंका जी हैं तभी कांग्रेस पार्टी है। मेरी कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील है कि आप मेहनत करें। हम दोबारा कांग्रेस का स्वर्णिम युग लाएंगे।’’ गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आजाद ने रविवार को कहा कि कांग्रेस के नेता आम लोगों से पूरी तरह से कटे हुए हैं और पार्टी में ‘‘पांच सितारा संस्कृति’’ घर कर गई है। उन्होंने संगठनात्मक ढांचे में आमूल चूल परिवर्तन का आह्वान किया। बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद उनका यह बयान आया है। इस चुनाव में पार्टी ने 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिनमें से वह केवल 19 सीटों पर जीत दर्ज कर पाई। आजाद ने कहा कि ब्लॉक से लेकर जिला और राज्य स्तर तक चुनाव कराकर पार्टी के ढांचे में आमूल-चूल परिवर्तन की तत्काल जरूरत है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को कम से कम चुनावों के दौरान पांच सितारा संस्कृति को छोड़ देना चाहिए।